July 19, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

पसीना सूखते तो बहुत देखे होंगे, आज राख होते देखिए…

Sachchi Baten

धान के कटोरे में गेहूं की खड़ी फसल में आग, दाना-भूसा सब राख

-जमालपुर ब्लॉक के मनऊर गांव में करीब 50 बीघा गेहूं में एक दाना भी नहीं बचा

-फायर ब्रिगेड की गाड़ी आई जरूर, मगर देर से

-किसानों ने अगल-बगल के खेतों को ट्रैक्टर से जोतकर आग को बढ़ने से रोका

शेरवां/मिर्जापुर (सच्ची बातें)। आप सभी ने पसीना सूखते तो देखा ही होगा, लेकिन आज पसीना राख बन गया। सोमवार को जमालपुर ब्लॉक के मनऊर गांव में खेत में आ लग गई। इसमें करीब 50 बीघा गेहूं की खड़ी फसल राख हो गई। जमालपुर ब्लॉक को धान का कटोरा कहा जाता है।

किसानों के अनुसार सोमवार की  शाम लगभग साढ़े चार बजे गेहूं की खड़ी फसल में संदिग्ध परिस्थितियों में आग लग गई। गनीमत यह रही कि सिवान में एक मोटा मेड होने के चलते व ग्रामीणों की सूझबूझ ने जल्द ही आग को काबू में कर लिया। अन्यथा सैकड़ों बीघा फ़सल जल कर खाक हो जाती। ग्रामीणों की सूचना पर दमकल की गाड़ी आई जरूर, लेकिन उसे राख को ही ठंडा करना पड़ा।

मनउर गांव निवासी किसान घनश्याम सिंह का गेंहू पक गया था। गेहूं की कटाई हार्वेस्टर से की जा रही थी। खेत पर मजदूर तथा किसान मौजूद थे। अचानक आग लगते ही मजदूर हरे पेड़ की टहनियों से पीटकर तथा मुराहू सिंह इण्टर कॉलेज के बगल में स्थित तालाब में ट्रैक्टर से, बोरिंग से सबमरसेबुल चलाकर पानी डालकर आग काबू में की गई। तब तक गेहूं की कटाई कर बांधकर खेत मे रखे गए बोझ व खड़ी फसल जल गई।

घनश्याम सिंह का करीब दस बीघा, अजय सिंह का पांच बीघा, संजय सिंह का पांच बीघा, जयदेव सिंह का दस बीघा, डब्लू सिंह का पांच बीघा, शशिभान सिंह का आठ बीघा, इन्द्रदेव सिंह का पांच बीघा, रामप्रकाश जयप्रकाश का तीन बीघा गेहूं की फ़सल जलकर खाक हो गई है। मौके पर फायर ब्रिगेड की गाड़ी व जमालपुर थाना व शेरवां चौकी की पुलिस पहुंची। किसानों के फसल जलने की सूचना क्षेत्रीय लेखपाल व एसडीएम चुनार को दी है। किसानों ने सबसे अच्छा काम यह किया कि आग के दायरे के चारो तरफ ट्रैक्टर से जोताई कर दी। इससे आग आगे नहीं बढ़ सकी।

 


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.