July 16, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

जंगल राज किसे कहते हैं, जानिए आप भी…

Sachchi Baten

इस सप्ताह बलिया से लेकर गाजियाबाद तक हत्याओं से दहला उत्तर प्रदेश

-प्रयागराज में बहन के साथ छेड़खानी का विरोध करने पर भाई की सरेराह हत्या

-गाजियाबाद में चैंबर में घुसकर वकील की हत्या

-बलिया में एक युवती व एक छात्र को अपराधियों ने सुला दी मौत की नींद

राजेश पटेल, मिर्जापुर (सच्ची बातें)। जंगल राज किसे कहते हैं। जंगल राज की बात हो तो सहसा बिहार का नाम जेहन में आ जाता है। लेकिन, परिस्थिति अब बदल चुकी है। उत्तर प्रदेश में सिर्फ इस सप्ताह की बात करें को हत्या की कई जघन्य घटनाएं हुई हैं। जिस तरह से अपराधियों ने हत्या की घटनाओं को अंजाम दिया, उससे तो यही प्रतीत हो रहा है कि अब डबल इंजन की सरकार वाले यूपी में ही जंगल राज कायम हो गया है।

प्रयागराज पर इस सरकार का बहुत ज्यादा ध्यान इस समय है। अतीक और उसके भाई असरफ की हत्या के बाद लगा था कि यहां से अपराध का खात्मा हो गया। लेकिन स्थिति इसके ठीक विपरीत है। इस सप्ताह बहुत ही हृदय विदारक घटना हुई। स्कूल से जाते समय कुछ शोहदों ने एक किशोरी के साथ छेड़छाड़ की। साथ में चल रहे दसवीं के छात्र भाई ने विरोध किया तो उसकी पीट-पीट कर हत्या कर दी गई। इस दौरान बहन हत्यारों से हाथ जोड़कर अपने भाई की जान न लेने के लिए अनुनय-विनय करती रही। लेकिन, हत्यारों पर उसकी विनती का कोई असर नहीं हुआ।

प्रयागराज की ही एक अन्य घटना में दारोगा के बेटे की गोली मारकर हत्या कर दी गई। प्रयागराज के थरवई इलाके में 40 नंबर गोमती के जनकल्याण चिकित्सालय में दारोगा का बेटा पंकज किसी काम से गया था। वहां क्लीनिक संचालक से कुछ विवाद हुुआ और उसे गोली मार दी गई। इसमें उसकी मौत हो गई। हत्या को अंजाम देने के बाद आरोपित फरार हो गया।

गाजियाबाद में तो कोर्ट परिसर में स्थित वकील के चैंबर में घुसकर मोनू चौधरी नामक अधिवक्ता को गोली मारकर उसकी हत्या कर दी गई। इस घटना को लेकर पूरे प्रदेश के अधिवक्ता आंदोलित हैं। बताया गया कि हत्यारों की संख्या दो थी और दोनों चेहरे पर नकाब लगाए हुए थे। दिनदहाड़े कचहरी परिसर में हुई इस घटना से पूरा प्रदेश स्तब्ध है।

बलिया जिले में इस सप्ताह दो हत्याएं हुईं। चितबड़ा थाना क्षेत्र के रामपुरचिट गांव में 24 साल की युवती को तीन बदमाशों में घर में घुसकर गोली मारकर हत्या कर दी। हत्या के बाद आरोपी आराम से फरार भी हो गए। बताया गया कि घटना के समय युवकी घर की सफाई कर रही थी। गोली की आवाज सुनने के बाद परिजन ने पीछे के दरवाजे से तीन लोगों को बाहर भागते देखा।

बलिया के ही खेजुरी थाना क्षेत्र अंतर्गत करम्मर गांव में घर के बाहर सो रहे युवक की अज्ञात बदमाशों ने चाकू मारकर हत्या कर दी। बताया गया कि बादल पटेल (22 वर्ष) पुत्र हरेराम पटेल मंगलवार की रात खाना खाने के बाद अपने घर के बाहर दरवाजे पर सोया हुआ था। इसी बीच रात करीब 12.30 बजे अज्ञात हमलावरों ने बादल पर चाकू से हमला कर उसे गंभीर रूप से घायल कर दिया। चाकू लगने के बाद बादल के चिल्लाने की आवाज सुनकर परिजन बाहर निकले। तब तक हमलावर भाग चुके थे। उसे अस्पताल लेे जाया गया, लेकिन बचाया नहीं जा सका। मृतक बी.कॉम का छात्र बताया गया।

वैसे भी जंगलराज को लेकर अब बिहार नाहक बदनाम है। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़े के मुताबिक हत्या के मामले में उत्तर प्रदेश नंबर एक हो गया है। ब्यूरो ने जो आंकड़े जारी किए हैं, उसके अनुसार 2021 में उत्तर प्रदेश में सबसे अधिक 3,717 हत्या के मामले दर्ज किए गए, इसके बाद बिहार में 2,799 और महाराष्ट्र में 2,330 मामले दर्ज किए गए। इसके बाद मध्य प्रदेश में 2,034 और पश्चिम बंगाल में 1,884 केस। सिक्किम में सबसे कम हत्या के 14 मामले थे।

 


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.