July 19, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

ये सेमरा है : प्रवास परदेस में, दिल है देश में ही… पढ़िए गांव के प्रति समर्पण की स्टोरी

Sachchi Baten

सेमरा के युवकों ने बताया आपदा में अवसर का मतलब नकारात्मक ही नहीं

 

परदेस में रहकर कमाने वाले युवकों ने खुद के खर्च से बनवाया गांव का भव्य प्रवेश द्वार

राजेश दुबे, मिर्जापुर (सच्ची बातें) । आपदा में अवसर। यदि इसे आप सिर्फ निगेटिव तरीके से देखते हैं तो आप बिल्कुल गलत हैं। हर सिक्के के दो पहलू होते हैं। ऐसा ही इस रिपोर्ट में है।

सिक्के के दूसरे पहलू के दिखाया है सेमरा गांव के उन युवकों ने, जो कमाने के लिए कोई हैदराबाद, तो कोई सूरत आदि शहरों में हैं। कोविड 2019 की लॉकबंदी में समय मिला तो गांव आए, और ग्राम सेवा की मिसाल खड़ी कर रहे हैं।

सेमरा गांव मिर्जापुर जिले की चुनार तहसील के जमालपुर ब्लॉक मुख्यालय से बिल्कुट सटा है। श्रीमती देवकली इंटर कॉलेज जमालपुर के मुख्य द्वार के ठीक सामने बसे इस छोटे से गांव में ज्यादातर मध्यमवर्गीय परिवार ही रहते हैं।

इस गांव के करीब तीन दर्जन युवा कमाने के लिए परदेस में रहते हैं। वे किसी प्राइवेट कंपनी या ठेकेदार के तहत काम करते हैं। कोरोना काल के दौरान लॉकबंदी हुई तो सभी को घर आना पड़ा।

कोविड 2019 प्रोटोकाल के तहत घर आने पर सभी को कोरोंटाइन रहना पड़ा। इस गांव में उस समय लोग कोरोना पॉजिटिव थे। होम कोरोंटाइन में अपना इलाज करा रहे थे। बाहर से आए इन युवकों ने डीह बाबा मंदिर पर इकट्ठा होकर गांव की सलामती के लिए प्रार्थना करते हुए मन्नत मांगी।

इसके बाद सेमरा विकास समिति का गठन किया। युवकों ने उसी समय आपस में चंदा करके डीह बाबा का मंदिर बनवा दिया। मंदिर निर्माण पूरा होने के बाद भंडारा व भजन-कीर्तन का भी आयोजन किया गया। युवक मानते हैं कि डीह बाबा की कृपा के ही कारण कोरोना पॉजिटिव छह लोगों में से किसी की मौत नहीं हुई।

समिति के अध्यक्ष मुलायम गोंड ने बताया उनका गांव स्वतंत्र पंचायत नहीं है। यह जमालपुर ग्राम पंचायत के अंतर्गत है। हर गांव के प्रवेश द्वार पर गेट लगा है। उनके गांव में नहीं था। उन की समिति ने निर्णय लिया कि सेमरा के प्रवेश द्वार पर भव्य गेट बनेगा।

फिर क्या था। निर्णय होते ही युवकों ने चंदे की घोषणा शुरू कर दी। करीब डेढ़ लाख रुपये लगे हैं। गेट आपके सामने है। यह गेट अब इस गांव की पहचान बन गया है। किसी भी जनप्रतिनिधि या व्यवसायी से एक पैसा भी नहीं लिया गया है। पूरा खर्च समिति के सदस्यों ने ही वहन किया है। इसका लोकार्पण नार विधानसभा के विधायक अनुराग सिंह से 27 अप्रैल 2022 को किया था।

डीह बाबा मंदिर के निर्माण के साथ ही काली माता मंदिर का जीर्णोद्धार भी कराया। इस प्रचंड गर्मी में जमालपुर ब्लॉक थाना तिराहे के पास मई महीने में प्याऊ लगाया गया।जिसका शुभारंभ थानाध्यक्ष जमालपुर मनोज कुमार ने किया था। इतना ही नहीं समिति के सदस्यों के जन्मदिन के अवसर पर प्राथमिक विद्यालय सेमरा के बच्चों को पाठ्य सामग्री के साथ मिठाइयां व फल का वितरण करते हैं।

 

अपील- स्वच्छ, सकारात्मक व सरोकार वाली पत्रकारिता के लिए आपसे सहयोग की अपेक्षा है। आप गूगल पे या फोन पे पर 9471500080 के माध्यम से सहयोग राशि भेज सकते हैं। 


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.