July 16, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

मिर्जापुर में सपा उम्मीदवार को नामांकन से क्यों रोका अखिलेश ने, बदलेंगे क्या?

Sachchi Baten

भदोही सांसद रमेशचंद्र बिंद शुक्रवार को शामिल होंगे समाजवादी पार्टी में

-राजेंद्र एस बिंद के स्थान पर अब रमेशचंद्र बिंद को मिल सकता है  टिकट

-2019 के लोकसभा चुनाव में भी राजेंद्र एस बिंद के साथ इसी तरह हो गया था खेला

-10 मई को नामांकन करने वाले थे राजेंद्र एस बिंद, सपा हाई कमान ने फिलहाल रोका

राजेश पटेल, मिर्जापुर (सच्ची बातें)। लगता है कि 2019 की तरह लोकसभा चुनाव 2024 में भी मिर्जापुर सीट से सपा प्रत्याशी राजेंद्र एस बिंद के साथ खेला हो गया। यह खेला किसी और ने नहीं, उनकी पार्टी सपा की तरफ से किया जा रहा है। तेजी से बदलते राजनीतिक समीकरण के बीच समाजवादी पार्टी राजेंद्र एस बिंद के स्थान पर अब भदोही सांसद रमेशचंद्र बिंद को मिर्जापुर से अपना दल एस की अनुप्रिया पटेल के सामने प्रत्याशी बना सकते हैं। सपा के सूत्रों के मुताबिक रमेशचंद्र बिंद शुक्रवार को समाजवादी पार्टी में शामिल होंगे।

इसे पढ़ें, सच्ची बातें ने पहले ही इस तरह की संभावना जताई थी…

Loksabha Election 2024: मिर्जापुर से प्रत्याशी बदल सकती है सपा-बसपा

रमेशचंद्र बिंद, सांसद भदोही।

 

बता दें कि 2019 के लोकसभा चुनाव में सपा-बसपा गठबंधन के समय समाजवादी पार्टी ने पहले राजेंद्र एस बिंद को ही प्रत्याशी बनाया था। बाद में इनका टिकट काटकर रामचरित्र निषाद को दे दिया गया था। उस समय टिकट कटने के बाद राजेंद्र एस बिंद ने समाजवादी पार्टी के जिला स्तरीय  पदाधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाए थे।

इन आरोपों को अभी तक सपा पदाधिकारी भूले नहीं हैं। हालांकि इस साल फिर से प्रत्याशी घोषित किए जाने के बाद राजेंद्र एस बिंद ने खुद को चर्चा मेंं लाने के लिए तक काफी मेहनत की है। गेहूं की फसल काटी। बोझ को सिर पर उठाकर खलिहान में पहुंचाने की भी उनकी फोटो वायरल हुई थी।

हालांकि 2019 में बिंद का टिकट काटकर निषाद को देने का खामियाजा भी सपा को भुगतना पड़ा था। बिंद मतदाता बिदक गए थे। इस साल  मझवा विधायक डॉ. बिनोद बिंद को भदोही से भाजपा का टिकट दे दिए जाने से मौजूदा सांसद रमेशचंद्र बिंद खफा हो गए। उन्होंने समाजवादी पार्टी से बातचीत शुरू कर दी। इस बार सपा बिंद का टिकट काटकर बिंद को ही देने जा रही है।

इधर  तमाम प्रयासों के बाद भी मिर्जापुर में सपा उम्मीदवार राजेंद्र एस बिंद का चुनाव प्रचार अभियान प्रभावी नहीं हो पा रहा था। लिहाजा सपा नेतृत्व ने भी विकल्प की तलाश शुरू कर दी। सपा के जिला स्तरीय नेताओंं ने भी अपनी रिपोर्ट राजेंद्र के खिलाफ ही भेजी है। लिहाजा रमेशचंद्र बिंद के नाम पर विचार शुरू हो गया। इसके लिए जरूरी था कि सबसे पहले रमेशचंद्र पार्टी में शामिल हों। इसके लिए शुक्रवार का दिन मुकर्रर किया गया है। शुक्रवार को रमेश चंद्र सपा में शामिल हो सकते है। अभी जो पटकथा तैयार है, उसके अनुसार शुक्रवार शाम तक रमेश चंद्र बिंद सपा केे उम्मीदवार घोषित किए जा सकते हैं।

समाजवादी पार्टी के जिला स्तरीय एक पदाधिकारी ने बताया कि राजेंद्र एस बिंद को नामांकन करने से इसीलिए रोका गया है। बता दें कि राजेंद्र एस बिंद 10 मई शुक्रवार को अपना नामांकन करने वाले थे। सारी तैयारी हो चुकी थी। गुरुवार की शाम अचानक लखनऊ से फोन आता है और नामांकन स्थगित करने की घोषणा कर दी जाती  है।

 


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.