July 24, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

बदायूं में सपा या BJP, किसकी होगी जीत? दो वकीलों में लगी 2-2 लाख की शर्त

Sachchi Baten

UP Lok Sabha Election 2024: 10 रुपये के स्टाम्प पेपर पर बना है कॉन्ट्रैक्ट, नोटरी और दो गवाहों के भी हस्ताक्षर

-बदायूं में लोकसभा चुनाव का रोमांच अब पार्टी समर्थकों के सिर चढ़कर बोल रहा है

UP Lok Sabha Chunav 2024: बदायूं (सच्ची बातें)। उत्तर प्रदेश में दो चरणों के लिए मतदान प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। अब तीसरे चरण को लेकर तैयारियां जोरो पर की जा रही है। इसी बीच यूपी के बदायूं से एक बेहद ही विचित्र मामला सामने आया है जो अब सुर्खियां बटोर रहा है। दरअसल उझानी क्षेत्र में दो वकीलों के बीच सपा और बीजेपी प्रत्याशी की जीत को लेकर दो-दो लाख रुपये की शर्त लगी है। इसके बाकायदा स्टांप पेपर में करार भी कराया गया है, ताकि हार जीत के बाद कोई मुकरे नहीं।

एक तरफ राजनीतिक पार्टियां में लोकसभा चुनाव को लेकर पूरी सक्रियता के साथ चुनाव मैदान में है तो वहीं अब लोकसभा चुनाव का रोमांच अब लोगों के सिर चढ़कर बोल रहा है। बदायूं में दो वकीलों के बीच सपा और बीजेपी प्रत्याशी की जीत को लेकर दो-दो लाख रुपये की शर्त लगाई गई है। जिसका अनुबंध स्टांप पेपर पर कराया गया है. अनुबंध पत्र में दो गवाह भी शर्त के प्रत्यक्षदर्शी बनाए गए है। अब इसको लेकर लोगों में चर्चाओं का बाजार गर्म है।

दो- दो लाख रुपये की लगी शर्त
बदायूं लोकसभा सीट की जीत का सेहरा किसके सिर सजेगा ये आने वाले 4 जून को चुनाव नतीजे आने के बाद ही पता चल पाएगा, लेकिन पार्टी समर्थको में अब चुनाव को लेकर भारी उत्साह देखने को मिल रहा है। पार्टी समर्थक अपने पार्टी प्रत्याशी की जीत को लेकर दावे करने से नहीं थक रहे हैं। उझानी निवासी एडवोकेट दिवाकर वर्मा और इसी क्षेत्र के गांव बरामलदेव निवासी एडवोकेट सतेंद्र पाल के बीच दो लाख रुपये की शर्त लगी है. दिवाकर वर्मा ने अपना प्रत्याशी भाजपा के दुर्विजय सिंह शाक्य को चुना है तो वहीं, सतेंद्र पाल सिंह ने सपा के प्रत्याशी आदित्य यादव की जीत का दावा किया है।

दोनों अधिवक्ताओं के बीच दस रुपये के स्टांप पर अनुबंध हुआ है। जिसमें लिखा गया है कि यदि भाजपा प्रत्याशी जीतते हैं तो सतेंद्र पाल दिवाकर वर्मा को दो लाख रुपये देंगे और अगर सपा प्रत्याशी जीतते हैं तो दिवाकर वर्मा, सतेंद्र को दो लाख रुपये 15 दिन के अंदर नकद देंगे। अनुबंध पत्र पर दो गवाहों के हस्ताक्षर भी हैं। इसमें यह भी लिखा है कि यदि चुनाव में किसी प्रकार की धांधलेबाजी होती है तो यह अनुबंध निरस्त समझा जाएगा।

तीसरे चरण में होगा बदायूं का चुनाव
आपको बता दें बदायूं लोकसभा सीट के लिए तीसरे चरण में 7 मई को मतदान प्रक्रिया संपन्न कराई जानी है। बदायूं से बीजेपी, सपा और बसपा समेत कुल 11 उम्मीदवार चुनाव मैदान मे हैं। यहां से बीजेपी ने दुर्विजय सिंह शाक्य को प्रत्याशी बनाया है तो वहीं समाजवादी पार्टी की तरफ से शिवपाल यादव के बेटे आदित्य यादव चुनाव मैदान मे हैं। बसपा की तरफ मुस्लिम खां चुनाव लड़ रहे हैं।


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.