July 24, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

और भी कारनामे हैं अहरौरा नगर पालिका परिषद के सस्पेंड गालीबाज ईओ के

Sachchi Baten

सरहंग अधिशासी अधिकारी रामदुलार यादव ने एक पत्रकार के साथ भी की थी मारपीट

-वसूली से परेशान थे अहरौरा के नागिरक, शासन में की है शिकायत

-नगर विकास विभाग के प्रमुख सचिव अमृत अभिजात ने दिए हैं जांच के आदेश

अहरौरा, मिर्जापुर (सच्ची बातें)। अहरौरा नगर पालिका परिषद का सस्पेंडेड अधिशासी अधिकारी रामदुलार यादव सिर्फ गालीबाज नहीं है, वह मारपीट भी करने लगता है। इस संबंध में उसके खिलाफ एफआइआर दर्ज है। चार्जशीट भी है। मामला बलिया जनपद का है। उस समय 2013 में यादव मनियर नगर पंचायत अधिशासी अधिकारी था। और तो और वह झूठा मुकदमा भी दर्ज कराने में माहिर है।

अहरौरा के सभासदों द्वारा हाल ही में नगर विकास विभाग के प्रमुख सचिव अमृत अभिजात तथा विशेष सचिव सत्य प्रकाश पटेल को दिए शिकायती पत्र में आरोप लगाया है कि अधिशासी अधिकारी रामदुलार यादव अपनी जाति के कुछ लोगों के साथ भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रहे हैं। एक संगठित गिरोह बनाकर वसूली करवाई जा रही है। भवन नामांतरण, भवन मानचित्र, पेयजल कनेक्शन में मोटे धन की उगाही करवाई जा रही है।

नगर पालिका परिषद के जनप्रतिनिधि जब इस कृत्य का विरोध करते हैं तो संबंधित सभासद के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराकर अपनी मनमानी करते हैं। मुकदमे के भय से कोई भी इनका खुलकर विरोध नहीं कर पाता है। इस सिंडिकेट को तोड़ा नहीं गया तो नगर पालिका परिषद पूरी तरीके से भ्रष्टाचार के जद में होगा।

आरोप लगाया गया है कि नगर में समय से जलापूर्ति नहीं होती है। सफाई व्यवस्था पूर्णतया ध्वस्त है। अधिशासी अधिकारी होने के नाते कार्य लेने की सारी जिम्मेदारी इनकी है। पालिका अध्यक्ष भी इनसे कार्य लेने में असमर्थ नजर आते हैं। जिसके चलते नगर समस्याग्रस्त और नागरिकों को मूलभूत सुविधाएं नहीं मिल पाती है।

इसके पूर्व ये महाराजगंज के सिसवा बाजार नगर पालिका में अधिशासी अधिकारी रहे हैं। वहां भी उनके द्वारा एक प्राइवेट सिंडिकेट बनाकर धन उगाही कराई जाती रही। इसकी जांच लंबित हैं। इनके द्वारा धन उगाही का वहां के सभासदों ने जब विरोध किया तो वहां भी इनके द्वारा सभासदों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। ईओ के खिलाफ भी पूर्व में कई संगीन धाराओं में मुकदमे दर्ज हैं। जो न्यायालय में विचाराधीन हैं।

यह शिकायती पत्र सौंपकर लोग अहरौरा लौटे, उसके एक दिन बाद ईओ पर अहरौरा की महिलाओं के खिलाफ अभद्र टिप्पणी का आरोप लग गया। भाजपा महिला मोर्चा की नेता श्वेता सिंह के पति मल्लू सिंह के साथ अपशब्दों का प्रयोग करने व महिलाओं को अभद्र टिप्पणी करने से नाराज होकर भाजपा कार्यकर्ताओं ने शनिवार को नपा कार्यलय पर हंगामा खड़ा किया। इस दौरान नगर पालिका के दर्जनों सभासद और चेयरमैन ओम प्रकाश केसरी मौके पर पहुंच गए। काफी देर तक हंगामा होने के बाद चेयरमैन ओम प्रकाश केसरी के आश्वासन पर हंगामा समाप्त हुआ। मल्लू सिंह नगर पालिका में आउट सोर्सिंग पर कार्यरत हैं।

श्ववेता सिंह ने बताया कि उनके पति मल्लू सिंह नगर पालिका में वाहन चालक हैं। शुक्रवार को  मीरजापुर डीएम कार्यालय की मीटिंग के लिए ईओ रामदुलार यादव को लेकर गए थे। वहां से वापस लौटने के दौरान ईओ ने मल्लू सिंह के साथ गाली गलौज करते हुए महिलाओं को लेकर काफी अभद्र भाषा का प्रयोग किया। श्वेता सिंह का आरोप है आए दिन ईओ द्वारा कर्मचारियों के साथ दुर्व्यवहार किया जाता है। महिलाओ को लेकर अभद्र भाषा का प्रयोग किया जाता हैं। उनके पति के साथ भी ईओ द्वारा दुर्व्यवहार किया गया है। इस दौरान नपा चेयरमैन ओम प्रकाश केसरी ने बताया कि ईओ द्वारा दुर्व्यवहार किए जाने से लोगों में नाराजगी जताई गई है।

इस घटना को शासन ने स्वतः संज्ञान में लेकर ईओ रामदुलार यादव को सस्पेंड कर निदेशालय से अटैच करने का आदेश निर्गत कर दिया है।

बता दें कि प्रवीण कुमार वर्मा ने बलिया जिले के मनियर नगर पंचायत के ईओ रामदुलार यादव के खिलाफ 2013 में मारपीट के आरोप में मुकदमा दर्ज करवाया था। इसमें चार्जशीट भी हो चुकी है।

 


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.