July 24, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

पत्रकारिता की विरासत निराशा के माहौल में प्रेरक स्तंभ है

Sachchi Baten

विकास का माॅडल पर्यावरण नष्ट कर रहा है, जिम्मेदारी से कोई बच नहीं सकता

-आइएसएमपी द्वारा 27 वें संयुक्त प्रेस विरासत दिवस तथा स्वयंसेवी विकास और आपदा परिषद की पर्यावरण संरक्षण संगोष्ठी संपन्न

चुनार, 28 अगस्त (सच्ची बातें)। शिवम पब्लिक स्कूल पुरुषोत्तमपुर में 27 अगस्त रविवार को इंटीग्रेटेड सोसाइटी ऑफ मीडिया प्रोफेशनल्स के तत्वावधान में एक गोष्ठी आयोजित की गई। इसका उद्देश्य था- मी़डिया द्वारा पेशेवरों में मूल्य आधारित पत्रकारिता को प्रोत्साहित करना। संयुक्त प्रेस विरासत दिवस में  पं. माधव राव सप्रे, सर जेम्स सिल्क बकिंघम तथा मुंशी प्रेमचंद के व्यक्तित्व और कृतित्व पर चर्चा की गई।

वक्ताओं ने कहा कि वर्तमान मीडिया प्रोफेशन में व्याप्त भ्रष्टाचार, अनैतिक लेखन, प्रकाशन से मीडिया अपनी सामाजिक और राष्ट्रीय जवाबदेही जिस तेजी से खो रही है, उससे आम लोगों की उम्मीदें अधिक धूमिल होने में वक्त नहीं लगेगा।

ऐसे माहौल में ईमानदार लेखनी में जो निराशा व्याप्त है, वह अपनी गौरवशाली पत्रकारिता, साहित्य की विरासत से नया जीवन हासिल कर सकता है।स्वयंसेवी विकास और आपदा परिषद वीसीडीडी की जन जागरूकता अंतर्गत ‘वृक्षों का हमारे जीवन में महत्व, हम बनें पर्यावरण योद्धा’ विषय पर वक्ताओं ने कहा कि वर्तमान पूंजीवाद को पोषित करने वाले विकास के माॅडल ने आम लोगों के नागरिक अधिकारों की आवाज उठाने वाले बौद्धिक वर्ग को बंधुआ मजदूर बना कर रख दिया है।

आक्सीजन, फल- फूल, छाया देने वाले पेड़ों की जगह मंहगे आवागमन की सड़कों व टोल टैक्स बैरियरों, होटलों, माॅलों को खड़ा किया है और ऐसे विकास माॅडल ने लाखों हाथों को बेरोजगार बना दिया है।


विचार मंथन के प्रथम सत्र में संस्थान संस्थापक चंद्रशेखर, त्रिलोकी प्रसाद और द्वितीय सत्र में चौधरी राजेंद्र, डाॅ.रणजीत सिंह, धनंजय सिंह ने विचार रखे।
कार्यक्रम में पर्यावरण मित्र सम्मान से डाॅ. ब्रह्मदेव सिंह तथा राजेश प्रसाद को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का प्रारंभ गांधी जी के चित्र पर माल्यार्पण, पुष्प अर्पण कर किया गया। कार्यक्रम का संचालन, अतिथियों का स्वागत और धन्यवाद प्रकाश शंकर सिंह शाक्या ने किया।


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.