July 24, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

उप्र राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय की 25 वर्ष की सुनहरी यादें होंगी ताजा

Sachchi Baten

दो नवंबर को भव्य तरीके से मनाया जाएगा रजत जयंती समारोह

-शिक्षार्थी सूचना प्रबंधन प्रणाली एलआईएमएस का होगा उद्घाटन

प्रयागराज (सच्ची बातें)। उत्तर प्रदेश राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय, प्रयागराज 2 नवंबर 2023 को विश्वविद्यालय की स्थापना की 25 वीं वर्षगांठ के अवसर पर रजत जयंती मनाएगा। यह महत्वपूर्ण अवसर विश्वविद्यालय अपने विकास यात्रा की विगत 25 वर्षों की सुनहरी यादों को ताजा करने का साक्षी बनेगा। विश्वविद्यालय इस अवसर पर उन सभी कर्म योगियों को याद करेगा, जिनका योगदान इसकी प्रगति में सहायक सिद्ध हुआ है।

कुलपति प्रोफेसर सीमा सिंह ने बताया कि विश्वविद्यालय के रजत जयंती समारोह के आयोजन की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं । समारोह के मुख्य अतिथि प्रोफेसर बंश गोपाल सिंह, कुलपति, पंडित सुंदरलाल शर्मा मुक्त विश्वविद्यालय, बिलासपुर, छत्तीसगढ़ होंगे। सारस्वत अतिथि डॉ. नरेंद्र कुमार सिंह गौर, पूर्व उच्च शिक्षा मंत्री, उत्तर प्रदेश सरकार तथा विशिष्ट अतिथि प्रोफेसर कल्पलता पांडेय, पूर्व कुलपति, जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय बलिया होंगी।

प्रोफेसर सिंह ने बताया कि विश्वविद्यालय के छात्रों और शिक्षकों के लिए यह अवसर उन्नत शिक्षा और अनुसंधान के क्षेत्र में नवाचार और समृद्धि की ओर एक महत्वपूर्ण कदम होगा। इस अवसर पर शिक्षार्थी सूचना प्रबंधन प्रणाली एलआईएमएस का उद्घाटन किया जाएगा। जिससे शिक्षा के क्षेत्र में गुणात्मक वृद्धि होगी।

कुलपति प्रोफेसर सिंह ने कहा कि शिक्षक एवं कर्मचारी विश्वविद्यालय के विकास की धुरी हैं। रजत जयंती समारोह में उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षकों एवं कर्मचारियों का सम्मान किया जाएगा। इस अवसर का साक्षी बनने के लिए शिक्षकों एवं कर्मचारियों के परिजन को भी आमंत्रित किया गया है।

उन्होंने बताया कि रजत जयंती समारोह के कार्यक्रम निदेशक प्रोफेसर पीपी दुबे एवं सह निदेशक डॉ. दिनेश सिंह के साथ समन्वय स्थापित कर विभिन्न समितियां कार्यक्रम को भव्य बनाने के लिए लगातार कार्य कर रही हैं। दीपावली से पूर्व ही विश्वविद्यालय में दीपावली का उल्लास है। सभी लोग उस पल का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।

प्रोफेसर सिंह ने बताया कि रजत जयंती समारोह को यादगार बनाने के लिए महोबा, मथुरा, मिर्जापुर एवं सुल्तानपुर के आमंत्रित कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक संध्या के अंतर्गत आल्हा गायन, ब्रज संस्कृति पर आधारित कार्यक्रम, कजरी गायन तथा अवधि संस्कृति की बिरहा गायन की प्रस्तुति की जाएगी। उन्होंने बताया कि सांस्कृतिक कार्यक्रम भारतीय भाषा उत्सव के अंतर्गत उत्तर प्रदेश राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय तथा हिंदुस्तानी अकादमी, प्रयागराज के सहयोग से आयोजित किया जाएगा।


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.