July 23, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

मिर्जापुर के किशोर पहलवान संदीप ने नेशनल कुश्ती में जीता गोल्ड

Sachchi Baten

67वीं राष्ट्रीय स्कूली खेल कुश्ती प्रतियोगिता के फाइनल में यूपी की ओर से मिर्जापुर के संदीप ने 7-0 के अंतर से हरियाणा के पहलवान को हराया

संदीप को देश की आर्मी से खेलने को मिला ऑफर

-स्कूल गेम्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने किया था आयोजन

-एशियन एवं ओलंपिक खेलना संदीप का सपना

अदलहाट, मिर्जापुर (सच्ची बातें)। एशियन गेम्स में भारत का पदकों के मामले में शतक लगने से देशवासी खुश हैं। मिर्जापुर जनपद के लोग भी भारतीय खिलाड़ियों की इस सफलता पर जश्न मना रहे हैं। मिर्जापुर की माटी में लोटपोट कर किशोर पहलवान संदीप यादव ने जनपद वासियों को एक और खुशी दे दी।

 

 

मध्य प्रदेश के विदिशा में तीन से आठ अक्तूबर के बीच स्कूल गेम्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के तत्वावधान में चल रहे 67वीं राष्ट्रीय स्कूली खेल कुश्ती प्रतियोगिता में मिर्जापुर के संदीप यादव ने यूपी की ओर से खेलते हुए गोल्ड मेडल जीतकर प्रदेश व जनपद का नाम रौशन किया है। 62 किलोग्राम इवेंट में फ्री स्टाइल अंडर -14 बालक वर्ग के फाइनल में संदीप हरियाणा को अपने काला जंग व ढांक दांव लगाकर 7-0 के अंतर से पराजित कर गोल्ड पर कब्जा जमाने में कामयाब रहे। इसके पहले सेमी फाइनल में संदीप ने अपना बेहतरीन दांव लगाकर बिहार के सूरज को 10 – 0 टेक्निकल में पराजित किया था।

इसके पूर्व मुजफ्फरनगर के डीएवी इंटर कॉलेज में 23 से 26 सितंबर के बीच आयोजित  67वीं प्रदेशीय कुश्ती प्रतियोगिता में दूसरे दिन विंध्याचल मंडल की टीम के कुश्ती खिलाड़ी संदीप यादव ने गोल्ड मेडल जीतकर नेशनल प्रतियोगिता के लिए क्वालीफाई किया था और वहीं से प्रदेशीय टीम के साथ नेशनल की तैयारी कर रहा था।

जनपद के जनता इंटर कॉलेज बरगवां कूबां के छात्र चुनार तहसील के अदलपुरा गांव निवासी संदीप यादव के पिता बाबूलाल यादव बहुत ही छोटे कास्तकार हैं। उनको दो पुत्र व दो पुत्री हैं। संदीप तीसरे नंबर पर है। घर की माली हालत ठीक नहीं होने के बाद भी अपने छोटे से दूध के कारोबार से पिता ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बेटे के खेलने का जो सपना देखा था, उस सपने को अब बेटा पूरा करने का दमखम रखता है। नेशनल में गोल्ड मेडल जीतने की सूचना मिलते ही पूरा परिवार गदगद हो उठा।

विद्यालय के छात्र की कामयाबी पर प्रधानाचार्य श्रीमती कमलेश कुमारी देवी ने कहा कि यह उनके विद्यालय के लिए गौरव का क्षण है। संदीप ने राष्ट्रीय प्रतियोगिता में सफलता पाकर विद्यालय व जिले का नाम रौशन किया है। वह बहुत ही होनहार और लगनशील छात्र है। मेरी शुभकामनाएं उसके साथ है। संदीप के खेल शिक्षक संजय कुमार सिंह, गौरव कुमार, श्रीकांत त्रिपाठी,  हरिनरायन यादव, दयानंद, इंद्रेश, अशोक कुमार ने अपने छात्र की कामयाबी पर बधाई दी। संदीप को संवारने में खेल शिक्षक  संजय कुमार सिंह की भूमिका अहम है। इसलिए इनको ज्यादा खुशी है।

इस कामयाबी पर संयुक्त शिक्षा निदेशक विंध्याचल मंडल कांता राम पाल, जिला विद्यालय निरीक्षक अमर नाथ सिंह, मंडलीय क्रीड़ा सचिव राजवन पटेल, जनपदीय क्रीड़ा सचिव प्रवीण कुमार सिंह, नेशनल सेलेक्टर एथलीट सतीश सिंह ने भी बधाई दी है।

2022 में साई में हुआ था चयन
संदीप का चयन 2022 में भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) में हुआ। अब वह पढ़ाई के साथ साथ साई हॉस्टल कछवा में रहकर अखाड़ा रुदौली में अभी तक प्रशिक्षण लेता था।

गांव के खेत को बनाया अखाड़ा
संदीप ने बुनियादी सुविधाओं के अभाव से कभी हार नहीं मानी। शुरू से ही उसकी रुचि कुश्ती की ओर रही। इसलिए प्रारंभ में उसने गांव के खेत को ही अखाड़ा बनाकर अपने दोस्तों के साथ जोर आजमाइश कर आज इस मुकाम पर पहुंच गया।

देश की आर्मी से मिला ऑफर
नेशनल कुश्ती में शानदार प्रदर्शन के साथ गोल्ड मेडल जीतने पर देश की आर्मी ने संदीप को हाथोंहाथ उठा लिया। भविष्य में आर्मी की ओर से खेलने के लिए आर्मी ब्वाय में दाखिले के लिए आमंत्रित किया है। आर्मी की ओर से नाम पता नोट कर जल्द बुलाने के लिए बोला गया है।

 

“नेशनल में गोल्ड मेडल जीतने के बाद देश के आर्मी की ओर से मुझे खेलने के लिए आर्मी ब्वाय में ज्वाइन करने का आफर मिला है। यह मेरे लिए बड़ी उपलब्धि है। मेरा सपना एशियन गेम्स व ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व कर अपने पिता के सपनो को साकार करना है।”


-संदीप यादव
नेशनल कुश्ती खिलाड़ी


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.