July 16, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

TBI टाइम बैंक ऑफ इंडिया, इस बैंक में सबसे कीमती चीज जमा होती है, आप का भी जानना है जरूरी

Sachchi Baten

अनोखा बैंक

इस बैंक में रुपये-पैसे और सोना-चांदी नहीं, समय की ही जमा-निकासी होती है

-भारत में कई जगह संचालित हो रहे हैं इस तरह के बैंक

-स्वस्थ अवस्था में जमा किया गया समय अशक्त होने पर आता है काम

 

राजेश पटेल, मिर्जापुर (सच्ची बातें)। टाइम बैंक ऑफ इंडिया। समय बैंक। सुनने में थोड़ा सा अटपटा लग रहा है, लेकिन इसमें स्वस्थ अवस्था में इन्वेस्ट की गई अनमोल चीज बुढ़ापे में बहुत काम आती है। इस बैंक में रुपये-पैसे, सोने-चांदी का इन्वेस्ट नहीं किया जाता है। इसमें समय का इन्वेस्ट करना पड़ता है, जो इस धरती पर अनमोल है। किसी भी कीमत पर इसे नहीं खरीदा जा सकता।

भारत में समय बैंक के संचालन में सबसे प्रतिष्ठित नाम रोटरी क्लब का है। इसके लिए बाकायदा टाइम बैंक ऑफ इंडिया ट्रस्ट बनाया गया है। इसकी मुख्य अवधारणा ही है बुजुर्गों की सेवा।

एकल परिवार के विस्तार, औसत आयु में वृद्धि, शहरीकरण, स्वास्थ्य समस्याओं आदि के कारण अकेले बुजुर्ग वरिष्ठ नागरिकों को दिन-प्रतिदिन के काम को प्रभावी ढंग से करने और समय गुजारने में बड़ी कठिनाई होती है। उनके या तो बच्चे नहीं होते या बच्चे इतने दूर होते हैं कि वे अपने माता-पिता की देखभाल करने में असहाय होते हैं। टाइम बैंक ऑफ इंडिया कॉन्सेप्ट एक सामाजिक सामुदायिक परियोजना बनाकर पारिवारिक जरूरतों के इस अंतर को पूरा करने का प्रयास करता है।

अवधारणा के तहत, कोई भी व्यक्ति अधिमानतः 60 वर्ष से अधिक आयु का एक स्वस्थ सेवानिवृत्त व्यक्ति (जिसे सदस्य कहा जाता है), जिसके पास ऐसे जरूरतमंद बुजुर्गों की देखभाल करने के लिए समय, ऊर्जा और उत्साह है, जो उन्हें अपना समय समर्पित करके उनकी जरूरत के समय मदद करते हैं। उन्हें।

सदस्य द्वारा बिताया गया समय उनके विशिष्ट खाते में जमा किया जाता है, जिसका उपयोग वे अपनी आवश्यकता के समय कर सकेंगे। इस प्रकार सदस्य भविष्य में उपयोग के लिए अपना समय कमा/बचा रहे हैं। सदस्यों और सेवा चाहने वालों के बीच पैसे का कोई लेन-देन नहीं होगा। उदाहरण के लिए, यदि श्रीमान/श्रीमती एक्स किसी जरूरतमंद बुजुर्ग (सेवा चाहने वाले) की सप्ताह में चार घंटे सेवा करते हैं, तो उन्हें महीने में 16 घंटे और साल में 192 घंटे या 8 दिन की कमाई/बचत होगी, जो उनके खाते में जमा की जाएगी। इस समय का उपयोग अपनी आवश्यकता के समय किश्तों में या एक बार सेवा मांग कर किया जा सकता है।

सरल शब्दों में टाइम बैंक ऑफ इंडिया में पंजीकरण शून्य बैलेंस के साथ बैंक खाता खोलने जैसा है। बुजुर्गों की सेवा करके धन के स्थान पर जब भी और जो भी उपलब्ध हो, समय जमा करें। अपनी जरूरत के समय अपनी जमा राशि के बराबर समय अपनी पसंद के अनुसार निकाल लें।

इस टीम में बहुत ही ख्यातिलब्ध लोग हैं। मसलन ट्रस्ट के अध्यक्ष चंद जैन पंजाब नेशनल बैंक के पूर्व वरिष्ठ कार्यकारी रहे हैं। प्रबंध ट्रस्टी अनिल कुमार खोसला भी पंजाब नेशनल बैंक के पूर्व वरिष्ठ कार्यकारी रह चुके हैं। अरुणा जैन इस ट्रस्ट की कोषाध्यक्ष हैं।

निरोगी भारत मिशन ने भी उत्तराखंड के देहरादून में इस तरह के बैंक का संचालन शुरू किया है। मिशन का देहरादून के कोलागढ़ के पास कार्यालय है। जहां कोई भी व्यक्ति अपना पंजीकरण करा सकता है या मोबाइल नंबर 9997213642 पर संपर्क कर सकता है। मिशन के पदाधिकारी इन व्यक्तियों का सत्यापन करते हैं और फिर टाइम बैंक से जोड़ देते हैं। अब यहां से शुरू होता है टाइम बैंक का मकसद। दरअसल, कई बुजुर्ग एकाकी जीवन जी रहे हैं। उन्हें स्वास्थ्य समेत अन्य जरूरी कामों के लिए दूसरों पर निर्भर रहना पड़ता है।

कई बार इन बुजुर्गों तक किसी भी माध्यम से मदद नहीं पहुंच पाती है, जिससे उन्हें काफी परेशानी झेलनी पड़ती है। उम्र के इस पड़ाव पर इन बुजुर्गों को सहारा मिल सके और कोई उन्हें अपना समय देकर उनकी जिंदगी में खुशियों के रंग भर सके। इसी उद्देश्य के साथ इस टाइम बैंक की शुरुआत की गई है।

ऐसे करता है बैंक काम
संस्था के अध्यक्ष रोहित ममगाईं ने बताया कि फिलहाल इस योजना को देहरादून में शुरू किया गया है। सैकड़ों लोग इस मुहिम से जुड़ रहे हैं। उनका कहना है कि जो भी खाताधारक टाइम बैंक में अपना समय जमा करेगा। उन्हें इन एकाकी जीवन जी रहे बुजुर्गाें की सेवा में लगाया जाएगा। फिर जब खाताधारक को खुद के लिए या परिवार के लिए किसी के समय की जरूरत पड़ेगी तो मिशन उनकी मदद के लिए दूसरे खाताधारकों को पहुंचाएगा। यह चेन इसी तरह से चलती रहेगी और लोग एक-दूसरे की मदद कर सकेंगे।
मध्य प्रदेश में भी है टाइम बैंक
इस कॉन्सेप्ट की पूरी दुनिया में सराहना हो रही है। यही वजह है कि अमेरिका, ब्रिटेन, जापान, न्यूजीलैंड, स्पेन और ग्रीस जैसे देश भी इस योजना को अपना चुके हैं। बताया जा रहा है कि सिंगापुर भी इसे जल्द लागू करने पर विचार कर रहा है। वहीं अगर हम भारत की बात करें तो, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) की समिति ने साल 2018 में इस योजना को अपने देश में लागू करने की सिफारिश की थी। इसके बाद इस समिति के सुझावों के आधार पर ही साल 2019 में मध्य प्रदेश में इसकी स्थापना की गई। इसका संचालन राज्य आनंद संस्थान कर रहा है।
युवा भी जुड़ रहे हैं टाइम बैंक के साथ
दरअसल ये टाइम बैंक का जो कॉन्सेप्ट है, वो पूरी तरह से लेन-देन के मॉडल पर बेस्ड है। इसके तहत कई तरह की सर्विस दी जाती है जैसे आईटी सेवाएं, एडवाइज लेना, बच्चों की देखभाल, सैलून, बागवानी, घर की मरम्मत या कोई अन्य टाइम लेने वाला काम। इन कामों में लगने वाले समय को टाइम बैंक द्वारा ट्रैक किया जाता है। ये समय टाइम यूनिट के रूप में जमा होता जाता है।

टाइम बैंक कोई नया कांसेप्ट नहीं हैसमय विनियम कोष (टाइम बैंक) वस्‍तुत: भारतीय समाज की बहुत ही प्राचीन धारणा है। इसमें एक दूसरे की मदद करने तथा अपने कौशल का समुदाय के लिए उपयोग करने के लिए सभी तत्‍पर रहे हैं। कालान्‍तर में सामूहिकता के स्‍थान पर एकल होने की प्रवृत्ति बढ़ी, जिसने व्‍यक्ति को नितान्‍त ही अकेला कर दिया। उसकी सामाजिक सुरक्षा व आनंद छिन गया।

राज्‍य आनंद संस्‍थान (आनंद विभाग) समय विनियम कोष को बढ़ावा देने की पहल से पुन: समाज में अपनी  सामर्थ्‍य के अनुसार उनकी भागीदारी को सामूहिक हित में बढ़ावा देने की पहल कर रहा है। यह भागीदारी इस आधार पर की जा रही है कि हम मुद्रा के स्‍थान पर समय का कोष तैयार करें । समय को जमा करें और जरूरत पड़ने पर समय को खर्च करें ।

चंडीगढ़ के सेक्टर-11 स्थित श्री सनातन धर्म मंदिर में भी इसी तरह का बैंक खुला है । इसका नाम है टाइम बैंक ऑफ इंडिया चंडीगढ़ चैप्टर।

इस तरह ले सकते हैं सदस्यता
टाइम बैंक ऑफ इंडिया के संस्थापक पीसी जैन ने कहा कि संस्था अपनी सेवाएं बिल्कुल निःशुल्क दे रही है। टाइम बैंक की सदस्यता ऑनलाइन www.timebankofindia.com वेबसाइट पर ली जा सकती है। टाइम बैंक पोस्टल पिन कोड एरिया के आधार पर काम करता है। पंजीकरण के बाद एरिया एडमिन द्वारा सदस्य का सत्यापन किया जाता है। सत्यापित सदस्य ही अन्य बुजुर्ग सदस्यों की सेवा का काम कर सकते हैं। उन्होंने आगे बताया कि बिना समय जमा किए हुए भी आप को समय मिलेगा।

 

 

 


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.