July 23, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

बनारस में ‘गंगापुत्र’ के सामने खड़ा होने से क्यों मना किया ‘शिखंडी’ ने?

Sachchi Baten

लोकसभा चुनाव 2024 वाराणसी, Loksabha Election 2024 Varanasi:

किन्नर महामंडलेश्वर हेमांगी सखी शामिल होंगी बीजेपी में

-मोदी का जमकर करेंगी प्रचार, कहा सरकार के लोगों ने उनकी मांगों को लेकर दिया सकारात्मक आश्वासन

राजेश पटेल, वाराणसी (सच्ची बातें)। बनारस आए थे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने। लेकिन अब मोदी को जिताने के लिए जमकर प्रचार-प्रसार करेंगे। बात हो रही है कलियुग के शिखंडी की। बृहन्नला की। मतलब किन्नर महामंडलेश्वर हेमांगी सखी की।

सबसे पहले अखिल भारतीय हिंदू महासभा ने किन्रर महामंडलेश्वर हेमांगी सखी को बनारस से नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने के लिए टिकट दिया। बाद में महासभा के मुखिया स्वामी चक्रपाणि ने टिकट देने से इनकार कर दिया। फिर हेमांगी ने चक्रपाणि पर धोखा देने का आरोप लगाते हुए निर्दल ही लड़ने का एलान कर दिया।

नामांकन की अवधि 14 मई बीत जाने के बाद हेमांगी सखी से बात की गई तो उन्होंने बताया कि सरकार के बहुत सारे लोग उनके पास आए थे। सभी ने कहा कि चुनाव बाद किन्नर समाज की समस्याओं के निराकरण के लिए विचार किया जाएगा। इसलिए चुनाव लड़ने का निर्णय वापस ले लिया। हेमांगी सखी ने कहा कि 15 मई की शाम पांच बजे वह भाजपा के मुख्य चुनाव कार्यालय में जाकर विधिवत भारतीय जनता पार्टी में शामिल होंगी।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि वह भाजपा में शामिल होने के बाद मोदी के पक्ष में प्रचार प्रसार करेंगी। जगह-जगह जाकर उनके लिए वोट मांगेंगी।

बता दें कि यह वहीं किन्नर महामंडलेश्वर हैं, जिन्होंने कहा कि मोदी जी यदि अपने को गंगा पुत्र कहते हैं तो मैं शिखंडी हूं। शिखंडी ही महाभारत के युद्ध में गंगापुत्र की मौत का कारण बने थे। हालांकि हेमांगी सखी के बनारस से चुनाव लड़ने के फैसले का विरोध उनके ही किन्नर समाज के लोगों द्वारा किया जा रहा था। एक दिन वाराणसी कलेक्ट्रेट के सामने किन्नर समाज ने प्रदर्शन भी किया था। देखें प्रदर्शन की फोटो…


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.