July 23, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

विंध्याचल की वादियों से हिंदुत्व की बयार बहाने में जुटा आरएसएस

Sachchi Baten

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की तीन जिलों की बैठक देवरहा हंस बाबा आश्रम में 8-9 मार्च को

-विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय संरक्षक दिनेश जी फूंकेंगे स्वयंसेवकों के कान

राजेश पटेल, मिर्जापुर (सच्ची बातें)। आरएसएस का अयोध्या में राम जन्मभूमि मंदिर से नाता पुराना है। सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के पहले इसके पास छेनी-हथौड़ी परमानेंट रहती थी। जब चुनाव आता था, तब वह छेनी-हथौड़ी लेकर मंदिर बनाने का माहौल तैयार करने लगता। अब मंदिर बन गया है, उसमें रामलला की प्राण प्रतिष्ठा भी हो गई है तो इसी छेनी-हथौड़ी का प्रयोग दूसरे रूप में  किया जाने वाला है। इससे अब स्वयंसेवकों को गढ़कर राष्ट्र निर्माण के लिए योग्य नागरिक बनाया जा रहा है। इसकी शुरुआत विंध्याचल के पास देवरहा हंस बाबा आश्रम से आठ मार्च को होगी।

आठ व नौ मार्च को मिर्जापुर और भदोही जिलों के लिए खास कार्यक्रम है। यह आयोजन विंध्याचल के पास महुवरिया में देवरहा हंस बाबा आश्रम में होगा। इस कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सांगठनिक जिले चुनार, मिर्जापुर और भदोही से जिला स्तर से लेकर खंड और टोली तक समेत सभी स्वयंसेवक शामल होंगे। रात्रि विश्राम भी आश्रम में ही होगा।

आठ मार्च शुक्रवार की शाम पांच बजे वर्ग शुरू होगा। इसी दिन विभाग व जिला टोली की बैठक दो सत्रों में होगी। अगले दिन नौ मार्च को सुबह की शाखा से कार्यक्रम की शुरुआत होगी। इसके बाद अलग-अलग सत्र शुरू होंगे।

पहले दिन आठ मार्च को खंड टोली के सदस्यों को नहीं बुलाया गया है। इस दिन विभाग के 20, तीनों जिलों से ( चुनार से 28, मिर्जापुर और भदोही से 32-32) स्वयंसेवक बैठक में मौजूद रहेंगे। इनके साथ ही चुनार जिले से 18 खंड पदाधिकारी, मिर्जापुर जिले से 40 खंड तथा भदोही जिले से 40 खंड पदाधिकारियों को बुलाया गया है। टोलियों के स्वयंसेवकों को नौ मार्च को सुबह बुलाया गया है।

इसमें विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय संरक्षक दिनेश जी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के काशी प्रांत प्रचारक रमेश जी स्वयंसेवकों के साथ देश के मौजूदा राजनीतिक माहौल पर विमर्श करेंगे। अपनी विचारधारा के फैलाव के गुर बताएंगे।

कार्यक्रम की तैयारी में चुनार जिला कार्यवाह राम बालक जी, सह कार्यवाह अमित जी और जिला प्रचारक कमलेश जी समेत अन्य स्वयंसेवक जुटे हैं। सभी का रात्रि प्रवास आश्रम में ही होगा।

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर आरएसएस की यह बैठक काफी अहम मानी जा रही है। बताया जा रहा है कि हाल के दिनों में इतनी बड़ी बैठक नहीं हुई थी। विंध्याचल इस समय धार्मिक पर्यटन का प्रमुख केंद्र बन चुका है। देवरहा हंस बाबा आश्रम भी प्रकृति की गोद में स्थित है। यहां से जो किरण निकलेगी, उसका असर दूर तलक होगा।

माना जा रहा है कि अपने राजनैतिक संगठन भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में हवा बनाने के लिए इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। इसमें स्वयंसेवकों को हिंदुत्व को प्रतिस्थापित करने के गुर बताए जाएंगे।


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.