July 19, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

PWD MIRZAPUR : सड़क निर्माण में गड़बड़ी की विजिलेंस जांच की अनुशंसा

Sachchi Baten

भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टॉलरेंस-4

रानीबाग-जैपट्टी-जमालपुर-जलालपुर मार्ग निर्माण में भ्रष्टाचार की विजिलेंस से होगी जांच

-कैबिनेट मंत्री आशीष पटेल ने लोक निर्माण विभाग के मंत्री जितिन प्रसाद को पत्र लिखा

-लुटेरे ठीकेदारों के गिरोह के सरगना हैं अधिशासी अभियंता देवपाल

राजेश पटेल, मिर्जापुर (सच्ची बातें)। लोक निर्माण विभाग निर्माण खंड-2 में नीचे से ऊपर तक सभी विभागीय नियमों का मखौल उड़ा रहे हैं। अरबों रुपये खर्च होने के बाद भी ग्रामीण सड़कें चलने लायक नहीं हैं। जो स्थिति है, उसके अनुसार लोग बोलने लगे हैं कि अधिशासी अभियंता देवपाल की सरपरस्ती में एकाउंटेंट, अवर अभियंता से लेकर ठीकेदारों का एक गिरोह दोनों हाथों से लूट रहा है।

इसे भी पढ़ें...भ्रष्ट आचरण के कारण जिसे दी गई अनिवार्य सेवानिवृत्ति, वह मिर्जापुर में लूट रहा

जिले में रानीबाग-जैपट्टी-जमालपुर-जलालपुर मार्ग अनियमितता का एक उदाहरण है। इस तरह का व्यवहार जिले भर की सड़कों के निर्माण के साथ किया जा रहा है। इस सड़क को कब का बन जाना चाहिए था, लेकिन अभी तक अधूरी ही नहीं, कहीं-कहीं पैदल चलना भी दूभर होता है। इसके निर्माण में जमकर लूट की गई है। इसका निर्माण लोनिवि निर्माण खंड-2 मिर्जापुर द्वारा कराया जा रहा है। जमालपुर के कुछ लोगों द्वारा कैबिनेट मंत्री आशीष पटेल के संज्ञान में यह मामला लाया गया तो उनका भी माथा ठनका।

इसे भी पढ़ें...पैसा ही देवता है मिर्जापुर में पीडब्ल्यूडी के इस अधिशासी अभियंता के लिए

उन्होंने अपने स्तर से लूट की पूरी कहानी की जानकारी ली। जनता द्वारा की गई शिकायतें प्रथम दृष्टया सही प्रतीत हुईं तो बीते 10 जनवरी को अर्धशासकीय पत्र संख्या 13 MZP लोक निर्माण मंत्री जितिन प्रसाद को लिखकर इस सड़क के निर्माण में की गई अनियमितता की विजिलेंस से जांच कराने की मांग की।

इसे भी पढ़ें...PWD MIRZAPUR : नवीनीकरण की राशि 96 लाख, मुहाने की स्थिति ऐसी

प्रदेश के प्राविधिक शिक्षा, बाट-माप व उपभोक्ता संरक्षण मंत्री आशीष पटेल ने पत्र में लिखा है कि इसके निर्माण में अंडर साइज ग्रिट्स का प्रयोग किया गया है। विशेषकर 10 एमएम व 12 एमएम ग्रिट गायब नजर आ रही है।

सड़क निर्माण में 6 एमएम डाउन तथा सैंड का प्रयोग ज्यादा किया गया है। इसके कारण सड़क की स्ट्रेंथ कमजोर है। सड़क निर्माण में बिटुमिन कंटेट की कमी स्पष्ट है। सड़क की राइडिंग क्वालिटी बहुत ही खराब है।

सड़क निर्माण में जो कार्य हाट मिक्स प्लांट से और पेवर फिनिशर के किया जाना चाहिए, उसके स्थान पर मिक्साल से ग्रिट और बिटुमिन की मिक्सिंग कार्य कराकर लेपिंग का कार्य मैनुअली कराया जा रहा है। इसके कारण क्वालिटी खराब है और ड्यूरेबिलिटी बहुत कम है।

मंत्री ने मांग की है कि निर्माणाधीन सड़क की विजिलेंस से जांच तथा मुख्यमंत्री के भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टॉलरेंस नीति के तहत दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

बता दें कि इस सड़क पर कहीं-कहीं लेपन किया गया है तो कहीं-कहीं छोड़ दिया गया है। कुछ स्थानों पर एक साइड ही लेपन कराया गया है। जैपट्टी गांव में अभी कोई काम ही नहीं हुआ है। जैपट्टी गांव में सड़क की स्थिति ऐसी है कि पैदल भी चलना मुश्किल है। वर्ष भर जलजमाव तथा जलनिकासी के लिए कटिंग यथावत है।

और तो और इसके निर्माण में पर्यावरण संरक्षण का भी ध्यान नहीं रखा गया है। सड़क किनारे के अर्जुन के पेड़ों के तने से सटाकर लेपन कर दिया गया है। इससे उनकी उम्र घटनी शुरू हो गई है।

इसे पढ़ें...विकासः पीडब्ल्यूडी फांसी पर चढ़ा रहा उनको जो हमारे लिए अपनी चमड़ी भी निकलवा देते हैं

नोट- मिर्जापुर लोक निर्माण विभाग निर्माण खंड-2 के अधिशासी अभियंता देवपाल जी यदि इन आरोपों के बारे में कोई सफाई देना चाहते हैं तो स्वागत है। वह मेरे मोबाइल नंबर 7909081514 पर ह्वाट्सएप के माध्यम से भेज सकते हैं। उनकी पूरी बात प्रकाशित की जाएगी।

 


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.