July 24, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

मिर्जापुर में विश्वविद्यालय की प्रक्रिया तेज, सांसद ने स्थल का किया निरीक्षण

Sachchi Baten

विश्वविद्यालय के पास ही बनेगा कान्हा उपवन केंद्र व सब्जी की खेती के लिए प्रशिक्षण केंद्र

-पिछले सप्ताह उत्तर प्रदेश सरकार की कैबिनेट ने विश्वविद्यालय स्थापना की दी थी मंजूरी

-विंध्याचल मंडल के छात्र-छात्राओं को मंडल में ही उच्च शिक्षा की सुविधा मिलेगी

-शिक्षा के क्षेत्र में यह विश्वविद्यालय मील का पत्थर साबित होगा: अनुप्रिया पटेल

मिर्जापुर, 7 नवंबर (सच्ची बातें)। विंध्याचल  में विश्वविद्यालय स्थापना की प्रक्रिया में तेजी आई है। इसके लिए मड़िहान तहसील के पास देवरी कलॉ गांव में जमीन प्रस्तावित है। सांसद व केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने मंगलवार को इस प्रस्तावित स्थल का निरीक्षण किया। विश्वविद्यालय के पास ही कान्हा उपवन केंद्र व सब्जी की खेती के लिए प्रशिक्षण केंद्र भी बनेगा।

केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रति आभार जताते हुए कहा कि विश्वविद्यालय के लिए चिन्हित की गई जमीन बहुत अच्छी जगह पर है। यहां का स्थान काफी मनोरम एवं प्राकृतिक है। इस दौरान एसडीएम युगांतर त्रिपाठी ने मंत्री को प्रस्तावित विश्वविद्यालय से संबंधित सभी जानकारी देते हुए बताया कि यहां पर विश्वविद्यालय के अलावा कान्हा उपवन केंद्र एवं सब्जी की खेती के लिए प्रशिक्षण केंद्र व बायो गैस भी स्थापित किया जाएगा।

बता दें कि पिछले सप्ताह 31 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में हुई कैबिनेट की बैठक में मिर्जापुर जनपद में खुलने वाले विश्वविद्यालय को मंजूरी दे दी गई। कैबिनेट की मंजूरी के बाद जनपद में विश्वविद्यालय स्थापना का रास्ता साफ हो गया है। अब विश्वविद्यालय की स्थापना में तेजी आ रही है।

केंद्रीय मंत्री श्रीमती पटेल ने कहा कि यह विश्वविद्यालय आने वाले समय में विंध्याचल मंडल में शिक्षा के प्रचार-प्रसार में मील का पत्थर साबित होगा। विंध्याचल मंडल के छात्र-छात्राओं को उच्च शिक्षा के लिए अन्य जनपदों में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। विंध्याचल मंडल अनुसूचित जाति/जनजाति बाहुल्य क्षेत्र है। इस मंडल में राज्य विश्वविद्यालय की स्थापना होने से बच्चों को उच्च शिक्षा ग्रहण करने के लिए बड़े महानगरों अथवा अन्य जनपदों में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

बता दें कि विश्वविद्यालय की स्थापना हेतु केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल वर्षों से प्रयासरत थीं। श्रीमती पटेल इस बाबत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर कई बार अनुरोध कर चुकी थीं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के 29 जनवरी 2020 में मीरजापुर दौरा के दौरान भी श्रीमती पटेल ने विश्वविद्यालय स्थापना की मांग की थी।

स्थलीय निरीक्षण के दौरान कोऑपरेटिव बैंक के अध्यक्ष जगदीश सिंह पटेल, दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री रेखा वर्मा, जिलाध्यक्ष युवा मंच उदय पटेल, जिला उपाध्यक्ष राजकुमार पटेल, भाजपा जिला महामंत्री हरिशंकर सिंह, ग्राम प्रधान अखिलेश्वर पांडेय, एडवोकेट संतोष कुमार विश्वकर्मा, राहुल ओझा, सोनेलाल पटेल आदि लोग उपस्थित रहे।


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.