July 19, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

अरुण गोविल के X पर एक पोस्ट से राजनीतिक भूचाल

Sachchi Baten

भाजपा के ‘राम’ ने मतगणना के पहले ही हिम्मत छोड़ी

-हंगामा बढ़ता देख बाद में अरुण गोविल ने एक्स पोस्ट को डिलीट कर दिया

-उन्होंने किस इंसान पर भरोसा करके गलती की? राजनीति में आज यही चर्चा का विषय

राजेश पटेल, मेरठ (सच्ची बातें)। अयोध्या के राजा राम ऐसे तो न थे, जैसे भाजपा के हैं। मोदी के हैं। भक्ति के माध्यम से राजनीतिक सिद्धि साधने की कोशिश करने वाले भक्तों के हैं। भारतीय जनता पार्टी के राम अरुण गोविल ने तो बीच युद्ध में ही मैदान छोड़ दिया। मैदान छोड़ा ही नहीं, एक्स पर रोया भी “..जब किसी का दोहरा चरित्र सामने आता है तो उससे अधिक स्वयं पर क्रोध आता है, कि हमने कैसे आँखें बंद करके ऐसे इंसान पर भरोसा किया” जय श्री राम।

बता दें कि निर्माता-निर्देशक रामानंद सागर द्वारा निर्मित टीवी धारावाहिक रामायण में अरुण गोविल श्रीराम की भूमिका में थे। सुबह नौ बजे जब दूरदर्शन चैनल पर इनके दर्शन होते थे तो लोग दंडवत तक करते थे। यही हाल सीता बनी दीपिका चखलिया, लक्ष्मण बने सुनील लहरी समेत इनसे संबंधित अन्य पात्रों की भी थी।

22 जनवरी को जब अयोध्या में नव निर्मित भव्य राम मंदिर में जब श्रीराम लला की प्राण प्रतिष्ठा समारोह आयोजित था तो टीवी धारावाहिक के राम, सीता और लक्ष्मण के रूप में क्रमशः अरुण गोविल, दीपिका चखलिया तथा सुनील लहरी इस अंदाज में प्रकट हुए, मानो साक्षात श्रीराम परिवार हो।

उनकी रील वाली छवि का फायदा उठाने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने मेरठ से लोकसभा का टिकट भी दे दिया। मतदान हो गया। मतदान का फीसद कम रहा। मतदान के प्रतिशत की कमी को अरुण गोविल ने पता नहीं किस नजरिये से देखा कि अगले ही दिन उन्होंने मुम्बई की फ्लाइट पकड़ ली। चुनाव प्रचार के दौरान मेरठ की जनता के सुख-दुःख में हमेशा शिरकत करने का वादा करने वाला मतलब निकल जाने के बाद एक दिन भी रुकना मुनासिब नहीं समझा। यही चर्चा मेरठ में हो रही है।

रविवार को उनके एक्स एकाउंट पर किए गए एक पोस्ट ने तो राजनैतिक हलके में भूचाल ही ला दिया। अरुण गोविल ने पोस्ट किया है कि “..जब किसी का दोहरा चरित्र सामने आता है तो उससे अधिक स्वयं पर क्रोध आता है, कि हमने कैसे आँखें बंद करके ऐसे इंसान पर भरोसा किया” जय श्री राम।” बवाल मचा तो एक्स से इस पोस्ट को हटा दिया गया। भारत समाचार ने अपने एक्स पर इसे साझा किया है।

देखें पोस्ट-

https://x.com/bstvlive/status/1784445456740675922

इस पोस्ट पर तरह-तरह की टिप्पणियां भी आ रही हैं। राहुल तंवर ने इसे रुझान करार दिया। और, कहा कि इसीलिए मुम्बई भाग गया।

मुलायम सिंह यदुवंश ने लिखा है कि इसने रिजल्ट आने से पहले ही हार मान ली है। अब भाजपा का क्या होगा।

नितेश शुक्ला गर्गवंशम ने लिखा है- जख्म गहरा है! इन्होंने सच में खुद को भगवान राम मान लिया था! भाजपा खुद इनकी नहीं है!

जीतू राजोरिया ने लिखा है-चलो अब ये रेस से बाहर हो गए हैं बाकी ईवीएम जानें।

एड. अरविंद प्रसाद (बसपा) ने लिखा है-इनका तो मोय-मोय हो गया । नाटक में किरदार निभाना और रियल लाइफ में बहुत अंतर होता है।

प्रेम प्रकाश मिश्रा ने लिखा है- बनी बनाई इज्जत को चाणक्य ने चाट लिया।

इसी तरह के तमाम पोस्ट से भारत समाचार के एक्स एकाउंट का कमेंट सेक्शन भरा जा रहा है।


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.