July 16, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

OH MY GOD : ऐसे लोग भी  हैं अपने भारत में, पढ़िए चौंकाने वाला शौक

Sachchi Baten

विभिन्न थीम पर अखबारों का ऐसा संग्रह शायद ही कहीं मिले

सात हजार से ज्यादा अखबारों का संग्रह है बोकारो के सतीश कुमार के पास

अखबारों के नाम के अल्फाबेटिकल संग्रह तो अनूठा है, ए टू जेड तक

राजेश पटेल, मिर्जापुर (सच्ची बातें)। ऐसे भी लोग भारत मेंं हैं, सोचा नहीं था। शौक है तो खर्च की चिंता कहां। इनका शौक संग्रह है। डाक टिकट, विंटेज कार, भारतीय मुद्रा, पुरानी चीजें, अखबार का संग्रह तो देखा और सुना था। लेकिन विभिन्न थीम पर अखबारों का कलेक्शन तो झारखंड में स्टील सिटी नाम से विख्यात बोकारो में ही सतीश कुमार के यहां देखा। इसके लिए उनका नाम इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स तथा एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में शामिल हो चुका है।

अल्फाबेटिक

इस संग्रह में उनके पास ए से जेड A TO Z तक के अखबार मौजूद  हैंं। यह थीम शीर्षक से है। जैसे ए या अ से जिन अखबारों शीर्षक है, वे ऊपर हैं। इसी तरह  से जेड से शुरू होने वाले शीर्षक तक के भारतीय तथा विदेशी अखबार हैंं। इसी थीम पर राज्यवार अखबारों का भी संकलन है। इनके संग्रह में अल्फाबेट बेस थीम वाले अखबारों की संख्या 395 है।

टाइटिल थीम

एक और संग्रह है टाइटिल के हिसाब है। जैसेे जिस अखबार के शीर्षक में बिजनेस है। डेली है। दैनिक है, एक्सप्रेस है, दर्पण है, न्यूज, पोस्ट, मेल, संडे, टाइम्स, टुडे, सत्य, दुनिया या कोई और शब्द जिन अखबारों के शीर्षक में सामिल है, सभी का संग्रह सतीश कुमार के पास हैं। जिन अखबारों के शीर्षक में नदियों के नाम हैं, उनका अलग से संग्रह है। जैसे इन अखबारों के शीर्षक में गंगा, यमुना, नर्मदा, सोन, स्वर्णरेखा आदि नाम हैं, उनका भी अनूठा संग्रह है। टाइटिल बेस संग्रह में इनके पास फिलहाल 1127 अखबार हैं।

प्रदेश के हिसाब से

28 राज्यों व 8 केंद्रशासित प्रदेशों की थीम पर भी अखबारों का कलेक्शन है। हर राज्य का शीर्षक के हिसाब से अल्फाबेट संग्रह भारत में शायद ही कहीं देखने को मिले। किसी एक राज्य की बात करें तो सतीश के पास राजस्थान के सबसे ज्यादा 471 अखबार हैं।

इवेंट आधारित थीम

इवेंट के आधार पर भी इनके पास अखबारों का संग्रह है। जैसे किसी प्रसिद्ध व्यक्ति का निधन, राष्ट्रीय या प्रदेश स्तर की कोई उपलब्धि या अन्य इवेंट, जो ख्यातिप्राप्त हो। जैसे ओलंपिक, क्रिकेट सीरीज आदि। ऐसे अखबारों की संख्या सतीश के पास 1500 है। पत्रिकाओं के कलेक्शन की तो पूछिए ही मत। देश-विदेश की 706 पत्रिकाएं इनके संग्रह की शोभा बढ़ा रही हैं।

कुल 7200 अखबार व 706 पत्रिकाओं का संग्रह

सतीश कुमार ने बताया कि कुल मिलाकर उनके पास 7200 अखबार तथा 706 पत्रिकाएं हैं। जो अलग-अलग थीम पर हैं। उन्होंने बताया कि इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स तथा एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में उनका नाम शामिल किया गया है। महात्मा गांधी पर उनके पास काफी संग्रह है। डाक टिकट, नोट, सिक्के, स्टांप पेपर आदि।


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.