July 24, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

अब खुलेगी भ्रष्टाचार की गठरी की गांठ, सड़क निर्माण घोटाले की जांच शुरू

Sachchi Baten

निर्माण खंड-2 लोनिवि मिर्जापुर


मुख्य अभियंता ने बिंदुवार जांच कर अधीक्षण अभियंता से संस्तुति सहित सात दिन में मांगी रिपोर्ट

-रानीबाग-जैपट्टी-जमालपुर-जलालपुर मार्ग निर्माण में अनियमितता की विजिलेंस जांच कराने के लिए कैबिनेट मंत्री आशीष पटेल ने पीडब्ल्यूडी मंत्री जितिन प्रसाद को लिखा है पत्र

-अधिशासी अभियंता देवपाल के कारनामों की बिंदुवार जांच कराने की मांग की है समाजसेवी राम सिंह वागीश ने

मिर्जापुर (सच्ची बातें)। कहते हैं न कि तीन छिपाए ना छिपे चोरी, हत्या और पाप। लोक निर्माण विभाग निर्माण खंड-2 मिर्जापुर के अधिशासी देवपाल ने सड़कों के निर्माण में घोटाला करके जो पाप किया है, एक न एक दिन उजागर होना ही था। समाजसेवी राम सिंह वागीश ने देवपाल व उनके अधीन जेई मनोज कुमार के कारनामों की फेहरिस्त मुख्यमंत्री के पास भेजी तो विभाग हरकत में आ गया। पूरे प्रकरण की जांच शुरू हो गई है।

इसे भी पढ़ें...

यहां PWD में दाल में काला नहीं, पूरी दाल ही काली है…

लोक निर्माण विभाग मिर्जापुर क्षेत्र के मुख्य अभियंता अरविंद कुमार जैन ने अधीक्षण अभियंता को पत्र लिखकर निर्देशित किया है कि राम सिंह वागीश के शिकायत पत्र में उल्लिखित सात बिंदुओं की मार्गवार जांच करके जांच आख्या अपनी संस्तुति के सात सात दिनों के अंदर दें। जांच के इस आदेश से निर्माण खंड 2 में खलबली मची हुई है।

इसे भी पढ़ें…

विकासः पीडब्ल्यूडी फांसी पर चढ़ा रहा उनको जो हमारे लिए अपनी चमड़ी भी निकलवा देते हैं

 

बता दें कि अधिशासी अभियंता देवपाल को उत्तर प्रदेश शासन ने करीब दो साल पहले अनिवार्य सेवानिवृत्ति दे दी थी। इसके बाद हाईकोर्ट के आदेश पर वह फिर बहाल कर दिए गए। बहाल होने के बाद कार्यकारी डिवीजन भी दे दिया गया। इसके बाद वह मिर्जापुर जिले में सड़क निर्माण में अनियमितता का नया रिकॉर्ड कायम करने की होड़ में जुट गए। शिकायत के अनुसार इस कार्य में उनका पूरा सहयोग उनके जेई मनोज कुमार कर रहे हैं।

इसे भी पढ़ें…

PWD MIRZAPUR : सड़क निर्माण में गड़बड़ी की विजिलेंस जांच की अनुशंसा

उत्तर प्रदेश सरकार के प्राविधिक शिक्षा, बाट-माप तथा उपभोक्ता संरक्षण मंत्री आशीष पटेल को भी शिकायत मिली तो उन्होंने रानीबाग-जैपट्टी-जमालपुर-जलालपुर मार्ग के सुदृढ़ीकरण व चौड़ीकरण कार्य में की जा रही अनियमितता की विजिलेंस से जांच कराने के लिए पीडब्ल्यूडी मंत्री जितिन प्रसाद को पत्र लिखा। इस पत्र पर क्या कार्रवाई हुई, अभी किसी को नहीं पता है।

इसे भी पढ़ें…

भ्रष्ट आचरण के कारण जिसे दी गई अनिवार्य सेवानिवृत्ति, वह मिर्जापुर में लूट रहा

 

जिले की कई सड़कें भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ चुकी हैं। लाखों-करोड़ों रुपये खर्च होने के बावजूद ये सड़कें चलने लायक नहीं हैं। इनमें कैलहट-ममोलापुर-अदलहाट मार्ग, जमुई-भुड़कुड़ा-रामपुर मार्ग, रानीबाग-जैपट्टी-जमालपुर-जलालपुर मार्ग, भाईपुर-भभौरा मार्ग, रामपुर से जलालपुर (बेलहर राजवाहा) मार्ग, बियार भाई मार्ग, बंगला बाजार से ओड़ी-देवरिल्ला वाया अदलहाट मार्ग (ओडीआर रोड) आदि प्रमुख हैं।

इसे भी पढ़ें…

भ्रष्टाचार की गठरी की खुलने लगी गांठ तो छह डिग्री में हुआ लेपन कार्य

 

 


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.