July 16, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

MIRZAPUR: क्या आप जानते हैं कि IAS प्रियंका निरंजन की तारीफ पीएम मोदी भी कर चुके हैं

Sachchi Baten

लोकप्रिय अधिकारी के रूप में जानी जाती हैं मिर्जापुर की डीएम प्रियंका निरंजन

 

आशुतोष कुमार त्रिपाठी

—————————

दो सितंबर को मीरजापुर जिले की डीएम पद का चार्ज लेने वाली IAS प्रियंका निरंजन जनप्रिय अधिकारी के तौर पर जानी जाती हैं । आते ही जन समस्याओं को सुनने के साथ ही जनता की समस्याओं का निस्तारण भी खुद की देख रेख में करना शुरू कर दिया है। कार्य भार ग्रहण करने के बाद से ही अपने समयानुसार जनता दरबार में जनता की समस्याएं सुनती हैं। इसी प्रतिभा की बदौलत जनप्रिय अधिकारी के तौर पर जानी जाती हैं।

 

 

यूपी की तेजतर्रार अधिकारी हैं IAS प्रियंका निरंजन

मीरजापुर की डीएम प्रियंका निरंजन यूपी के तेजतर्रार अधिकारियों में जानी जाती हैं। जिले में आते ही सभी अधिकारियों को आदेश दिया कि वह सुबह 10 बजे से 12 बजे तक जनता की समस्याएं सुनें और उनका निस्तारण करेंं । इसके साथ ही सभी अधिकारियों को अपने कार्य स्थल पर निवास करने का आदेश भी दिया। कार्य में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों पर तुरंत कार्यवाही भी करने की चेतावनी दे दी है IAS प्रियंका निरंजन ने। इनका मानना है कि हम सब नौकरी जनता की सेवा के लिए करते हैं तो इसमें लापरवाही और गलती स्वीकार नहीं की जाएगी ।

 

 

जिले में आते ही सीएम योगी के ड्रीम प्रोजेक्ट के कार्य का किया निरीक्षण

डीएम प्रियंका निरंजन ने जिले में आते ही सीएम योगी के ड्रीम प्रोजेक्ट निर्माणाधीन विंध्य कॉरीडोर का निरीक्षण किया और खुद कर्मचारियों के साथ पैदल चलकर कार्य प्रगति को जाना तथा तय समयानुसार कार्य को पूरा करने का निर्देश भी दिया।

 

आइए जाने IAS प्रियंका निरंजन को

झांसी जिले की गरौठा तहसील की निवासी IAS प्रियंका निरंजन बेहद ही साधारण परिवार से हैं। पिता पीडब्ल्यूडी कांट्रेक्टर और माता हाउस वाइफ हैं। इनकी दो बहनें और एक भाई है । स्कूली शिक्षा दीक्षा प्रारंभिक से लेकर इंटर तक जालौन में हुई। इलाहाबाद विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन एवं वहीं से इकोनॉमिक्स विषय के साथ पोस्ट ग्रेजुएट भी किया।

 

 

सिविल सेवा का सफर

IAS प्रियंका निरंजन ने कई प्रयासों के बाद UPSC की परीक्षा पास की है । कहा जाता है कि असफलता ही सफलता की सीढ़ी होती है और जब मन में ठान लो तो कोई भी कार्य असंभव नहीं है ।
IAS प्रियंका निरंजन ने 2008 से ही सिविल सेवा की तैयारी शुरू की थी । पांच प्रयास में असफल होने के बाद भी इन्होंने हार नहीं मानी और तब जाकर 2013 में UPSC परीक्षा को पास कर IAS बनीं ।

 

मन की बात में पीएम मोदी भी कर चुके हैं IAS प्रियंका निरंजन की तारीफ

IAS प्रियंका निरंजन ने जालौन जनपद में सुखी नून नदी के जीर्णोद्धार का बीड़ा खुद उठाया और और अस्तित्व खोती इस 90 किलोमीटर लंबी नून नदी को फिर से जीवित किया । इनके इस कार्य की तारीफ पीएम मोदी ने अपने मन की बात में की थी।

 

सरकारी अस्पताल में दिया था अपनी बेटी को जन्म

जिनके पास पैसा होता है, वह सरकारी अस्पताल या सरकारी स्कूल में न जाकर बड़े-बड़े प्राइवेट संस्थानों में जाते हैं। लेकिन IAS प्रियंका निरंजन उन सबसे अलग हैंं। क्योंकि उनका मानना है कि यूपी की अधिकतर जनता सरकारी अस्पतालों, स्कूलों या सरकारी संस्थानों में जाती है तो वैसे ही IAS प्रियंका निरंजन ने अपनी बेटी का जन्म मुजफ्फरनगर जिले के सरकारी अस्पताल में करवाया और सभी अधिकारियों के साथ-साथ जनता को भी एहसास करवाया कि प्राइवेट से कई गुना बेहतर सरकारी संस्थान हैं।

 

पूर्व में मीरजापुर के सीडीओ के पद पर दे चुकी हैं सेवा

IAS प्रियंका निरंजन पूर्व में मिर्जापुर जिले में सीडीओ के पद पर रहते हुए जिले में सेवा दे चुकी हैं और इस सेवा के दौरान भी उन्होंने अपनी कार्य शैली से जनता के बीच काफी लोकप्रियता हासिल की थी। उसी तरह वर्तमान में मीरजापुर के डीएम के रूप में कार्यरत प्रियंका निरंजन से यहां की जनता काफी आस लगाए बैठी है।

 

-लेखक हिंदी खबर के मिर्ज़ापुर ब्यूरो चीफ  हैं।


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.