July 24, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

लोकसभा चुनाव 2024ः प्रेस कांफ्रेंस में चुनाव आयोग ने क्या कहा?

Sachchi Baten

press confrence of election commission of india at lucknow

निष्पक्षता न होने पर जिम्मेदार होंगे डीएम-एसपी

-15.29 करोड़ मतदाता हैं उत्तर प्रदेश में, 16 लाख 20 हजार बूथ

लखनऊ (सच्ची बातें)। आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा है कि यूपी देश का सबसे महत्वपूर्ण और बड़ा प्रदेश है, हमने यूपी में 2024 के लोकसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा की है। साथ ही उन्होंने प्रलोभन मुक्त और पारदर्शी व निष्पक्ष चुनाव कराने की बात कही।

सभी पार्टियों को मिलेगा बराबर का अवसर
चुनाव आयुक्त ने आश्वास्त किया कि सभी राजनीतिक पार्टियों को बराबर का अवसर मिलेगा। उन्होंने बताया कि पहले दिन हमने 7 राजनीतिक दलों से मुलाकात की है। साथ ही अफसरों और पुलिस को निष्पक्ष तरीके से काम करने का निर्देश दिया है। चुनाव में धन और बाहुबल का प्रयोग नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि चुनाव खर्च चेक के माध्यम से होगा।

सरकारी गाड़ी में ी होगा ईवीएम की मूवमेंट
चुनाव आयुक्त ने बताया कि चुनाव आयोग ने मतदाता सूची पर काफी मेहनत की है। मतदाताओं के लिए मतदाता सूची की बूथों पर व्यवस्था की जाएगी। साथ ही कहा कि ईवीएम को लेकर भी कुछ पार्टियों को आशंकाएं थीं, उनकी मांग को मानते हुए ईवीएम का मूवमेंट अब सरकारी गाड़ी में ही होगा।

16 जून से पहले नई सरकार होगी गठित 
चुनाव आयुक्त ने बताया कि कुछ पार्टियों द्वारा बूथ पर वोटिंग की संख्या बताने की मांग हुई है, इस पर विचार होगा। 16 जून 2024 को लोकसभा का कार्यकाल समाप्त हो रहा है, इससे पहले सरकार गठित हो जाएगी। यूपी में 15.29 करोड़ मतदाता हैं। इसके अलावा यूपी में 16 लाख 20 हजार 12 पोलिंग बूथ हैं। यूपी में कुछ बूथ महिलाओं और दिव्यांगजन लिए होंगे।

घर से वोटिंग करने की सुविधा
बता दें कि 85 वर्ष के आयु के मतदाताओं को घर से वोट करने की सुविधा दी जाएगी। साथ ही 40% से अधिक दिव्यांग भी घर से वोटिंग कर सकेंगे। चुनाव आयोग मल्टीस्टोरी में अलग से बूथ बना रहा है। कम मत प्रतिशत वाली जगहों पर जिला निर्वाचन अधिकारी खुद जाएंगे।

चुनाव आयोग की एप्लीकेशन
चुनाव आयोग लोकसभा चुनाव के लिए तीन एप्लीकेशन ला रहा है। इनमें एक से मतदाता चुनाव में होने वाले प्रलोभन शराब, पैसों के बारे में सीधे चुनाव आयोग से शिकायत कर सकता है। दूसरा एप्लीकेशन है वोटर हेल्पलाइन, जिससे वोटर अपनी जानकारी ले सकता है। तीसरी नो योर कैंडीडेट एप्लीकेशन के माध्यम से वोटर जानकारी ले सकता है, इसमें कैंडीडेट का सारा बैकग्राउंड होगा।

चुनाव को लेकर सुरक्षा व्यवस्था

  • कुछ हेलीपैड पर चार्टर प्लेन आते हैं, वहां सुरक्षा होगी।
  • एयरपोर्ट पर सबकी सघनता से जांच होगी।
  • नेपाल सीमा पर भी विशेष निगरानी होगी।
  • सभी जगह प्रॉपर चेकिंग होगी।
  • डिजिटल पेमेंट पर भी सख्ती होगी।

चुनाव को लेकर अन्य दिशा-निर्देश

  • चुनाव आयोग जीएसटी ई-बिल देखेगा।
  • 200 पेज की चेकबुक पार्टियों को एक बार में मिलेगी।
  • डीएम और एसपी निष्पक्षता न होने पर जिम्मेदार होंगे।
  • क्रिमिनल बैक ग्राउंड वाले प्रत्याशियों को 3 बार अपना ब्योरा प्रकाशित कराना होगा।
  • यूपी के 30 जिलों की सीमा 9 राज्यों से लगती है, सभी जगह चेक पोस्ट होंगे।
  • 5 बजे के बाद एटीएम कैश वैन भी नहीं चलेगी।

Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.