July 24, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

मेरठ में गुर्जर समाज ने कैसे मनाई होली, जानिए आप भी

Sachchi Baten

गुर्जर होली महोत्सव

 फूलों की पंखुड़ियों से खेली गुर्जर समाज ने होली

-अंतरराष्ट्रीय गुर्जर परिसंघ मेरठ द्वारा कनोहर लाल बालिका इंटर कॉलेज साकेत में आयोजित किया गया कार्यक्रम

-नारा दिया, गुर्जर-कुर्मी भाई-भाई

मेरठ (सच्ची बातें)। 1857 की क्रांति के नायक कोतवाल धन सिंह गुर्जर की जमीन मेरठ में गुर्जर समाज ने होली महोत्सव का आयोजन किया। इसमें नारा दिया गया, गुर्जर-कुर्मी भाई-भाई। इसका आयोजन अंतरराष्ट्रीय गुर्जर परिसंघ मेरठ द्वारा कनोहर लाल बालिका इंटर कॉलेज साकेत में किया गया।

इस “गुर्जर होली महोत्सव” में गुर्जर समाज के इतिहासकार, प्रोफेसर, इंजीनियर, पुलिस विभाग, चिकित्सा विभाग, शिक्षा विभाग तथा किसान आदि जो निवर्तमान अधिकारी थे, सभी ने बहुत बड़ी संख्या में प्रतिभा किया।

यह कार्यक्रम अपने आप में विशेष था। केवल गुलाल और रंग से नहीं, बल्कि गुलाब एवं गेंदे की पंखुड़ियों भी से गुर्जर समाज के लोगों ने “होली महोत्सव” मनाया। कई बुजुर्गों ने “आयो फाग, मनायो होली, गाओ होली” आदि कई तरह के होली गाए। कई विद्वानों ने गुर्जर समाज के युवाओं को, बालिकाओं को, महिलाओं को, बच्चों को प्रेरित करने वाली बातें कहीं।

“गुर्जर होली महोत्सव” में महत्वपूर्ण बात यह रही की सामूहिक मुख्य अतिथि का उत्तरदायित्व रहा। इसमें प्रमुख रूप से पूर्व डीएसपी विजेंद्र भड़ाना, पूर्व डीएसपी बले सिंह, राजेंद्र सिंह, ओपी वर्मा, होमगार्ड जिला कमांडेंट वेदपाल चपराना ने सामूहिक मुख्य अतिथि के दायित्व का निर्वहन किया।

पूर्व डीएसपी विजेंद्र भड़ाना ने कहा कि गुर्जर समाज को एक मजबूत संगठन की आवश्यकता है। अंतरराष्ट्रीय गुर्जर परिसंघ एक मजबूत गुर्जर संगठन की आवश्यकता की पूर्ति करता है। अब जनपद मेरठ के तमाम गुर्जर संस्थाओं में समन्वय करके गुर्जर समाज को मजबूती से आगे बढ़ाने का कार्य करना चाहिए। डीएसपी बले सिंह ने कहा कि गुर्जर समाज इस संगठन के साथ वास्तव में एकजुट रहेगा और यह संगठन प्रत्येक व्यक्ति काे सम्मान देकर गुर्जर समाज को सम्मान प्रदान करेगा।

प्रोफेसर डॉक्टर प्रतीक्षा ने कहा कि संगठन में गुर्जर महिलाओं की संख्या को बढ़ाया जाए, क्योंकि महिलाओं की 49% की भागीदारी है। इनको बढ़ने से अंतरराष्ट्रीय गुर्जर परिसंघ मजबूत होगा। संजीव प्रधान गडिना ने अंतरराष्ट्रीय गुर्जर परिसंघ की परिकल्पना, उसके उद्देश्य और उसकी भावी रणनीति पर चर्चा करते हुए कहा कि कोई भी समाज का हित करने वाला व्यक्ति अंतरराष्ट्रीय गुर्जर परिषद का सदस्य हो सकता है। इस संगठन में किसी भी स्तर पर किसी भी व्यक्ति द्वारा धन संग्रह की प्रवृत्ति को बढ़ावा नहीं दिया जाएगा। चंदा लेने की प्रवृत्ति को बढ़ावा नहीं दिया जाएगा।

अन्य मुख्य वक्ताओं में डीएसपी राजेंद्र सिंह, ओपी वर्मा, प्रधानाचार्य हरेंद्र जी, वेदपाल कमांडेंट, पवन लिसाड़ी, राजवाल सिंह, तेजपाल अधाना  आदि ने अपने उद्बोधन में गौरवशाली गुर्जर ऐतिहासिक परंपरा का विस्तार से व्याख्यान किया।

कार्यक्रम का संचालन तस्वीर सिंह चपराना ने किया। सभी का स्वागत संयोजक रॉबिन गुर्जर ने किया। अध्यक्षता मुख्य संयोजक एडवोकेट नरेश गुर्जर ने की। एडवोकेट नरेश गुर्जर ने कहा कि गुर्जर समाज के लोग गुर्जर समाज का कार्य करें और राजनीति करने वाले राजनीति करें। राजनेता गुर्जर सभाओं के कार्यों में दखल ना दें। हम सभी ऐसी गुर्जर सभाओं का सम्मान करते हैं, जो हमारे विचारों से, हमारे सिद्धांतों से मेल खाती हैं। उनके लिए हम सम्मान करेंगे और सभी सकारात्मक लोगों का सहयोग लेने के लिए आतुर रहेंगे।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से पिंकल गुर्जर एडवोकेट, इंजीनियर अनिल राणा, कर्मवीर सिंह, अरुण खटाना, मेजर नारायण सिंह, गुलबीर सिंह पार्षद, संजीव प्रधान सलारपुर, किरणपाल भाटी, सतीश मावी, एडवोकेट शक्ति सिंह, राष्ट्रीय गुर्जर विकास मंच के अध्यक्ष इंजीनियर जगदीश पुट्ठा, अखिल भारतीय गुर्जर विकास मंच के अध्यक्ष अहलकार सिंह नागर, गुर्जर विकास मंच के जिला अध्यक्ष कमरपाल सिंह नागर ने अंतरराष्ट्रीय गुर्जर परिसर की सामाजिक गतिविधियों में बढ़-चढ़कर सहयोग प्रदान करने का संकल्प लिया।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से प्रधान धर्मेंद्र राणा पांचली खुर्द, संतशरण प्रधान घोरिया, एडवोकेट मनोज बुटार, पवन बुटार, आदेश, तरुण, प्रधानाचार्य देशपाल, एडवोकेट अजय, डॉक्टर यतेंद्र वीर एवं दिनेश मावी गुर्जर सभा, हर्षपाल पार्षद, प्रधानाचार्य संजीव नगर आदि ने भाग लिया।


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.