July 16, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

जाटव समाज के बुद्धिजीवियों की नजर में कांग्रेस ही देश व संंविधान की रक्षक है, आप भी पढ़िए…

Sachchi Baten

आगरा के संतकबीर आश्रम में जाटव समाज के बुद्धिजीवी सम्मेलन में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बृजलाल खाबरी रहे मुखर

-भारतीय जनता पार्टी दलितों, पिछड़ों को संवैधानिक अधिकारों से वंचित करना चाहती हैः खाबरी

-दलितों के हक और हकूक की लड़ाई सिर्फ कांग्रेस लड़ रही है

-दलित वर्ग को वोट बैंक समझने वाले उनके हितों के सवाल पर चुप क्यों हैं?

-संविधान और लोकतंत्र को बचाने के लिए सबको आगे आना चाहिए

लखनऊ, 31 जुलाई 2023 (सच्ची बातें)। आज देश में संविधान पर खतरा मंडरा रहा है। अनुसूचित जाति/जनजाति, पिछड़ा वर्ग के आरक्षण को खत्म करने की साजिश लगातार रची जा रही है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी संविधान को बचाने के लिए लगातार संघर्ष कर रहे हैं। पूरी कांग्रेस पार्टी देश भर में संविधान को बचाने के लिए आवाज उठा रही है।

 

सिर्फ वोट बैंक मानने वाले लोग आज दलितों, पिछड़ों के हक में आवाज उठाने के बजाए चुप्पी साधे हैं। दलितों पिछड़ों के हक और हकूक के लिए और संविधान की रक्षा के लिए कांग्रेस पार्टी प्रदेश के सभी जिलों में ‘‘संविधान बचाओ संकल्प सभा’’ का आयोजन कर रही है। सभी लोगों को एकजुट होकर कांग्रेस पार्टी के साथ आगे आना होगा।

यह आह्वान उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पूर्व सांसद बृजलाल खाबरी ने मुख्य अतिथि के रूप में आगरा के संतकबीर आश्रम में ‘‘वृहद स्तर पर आयोजित जाटव समाज के बुद्धिजीवी सम्मेलन’’ में किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता उप्र सरकार के पूर्व मंत्री जीपी पुष्कर एवं संचालन बच्चन सिंह ने किया। कार्यक्रम की शुरुआत भारत रत्न बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा पर मार्ल्यापण से हुई।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने आजाद पार्टी के अध्यक्ष चन्द्रशेखर के सवाल पर कहा कि भाजपा के खिलाफ जो भी आवाज उठाता है, उसे फर्जी मुकदमे में जेल भेज दिया जाता है या अन्य तरीके से प्रताड़ित किया जाता है। लेकिन, क्या कारण है कि चन्द्रशेखर जो भाजपा के खिलाफ इतना कुछ बोलते हैं। उनके खिलाफ कोई मुकदमा दर्ज नहीं होता है। यह रिश्ता क्या कहलाता है?

जाटव समाज के इस बुद्धिजीवी सम्मेलन में जाटव समाज के प्रतिनिधियों ने जोर देकर कहा कि बहुजन समाज पार्टी संविधान और समाज की रक्षा करने में पूरी तरह असफल है। बसपा मुखिया अब तो दलितों पर होने वाले अत्याचारों पर भी मौन रहती हैं। वक्ताओं ने एक सुर में कहा कि समाज का नुकसान हो रहा है। संविधान को कौन बचाने वाला है।  यह कार्य इस समय केवल राहुल गांधी एवं कांग्रेस पार्टी करती दिख रही है। ऐसे में दलित समाज को पूरी ताकत के साथ कांग्रेस से जुड़ने की जरूरत है।

 

सम्मेलन में मुख्य रूप से पूर्व सदस्य विधान परिषद धर्म प्रकाश भारती,  प्रताप सिंह आजाद, डॉ. राम शरण राकेश, बांकेलाल चौधरी, प्रताप सिंह कौशल, ईश्वर चन्द्र, जय किशन, राजेन्द्र प्रसाद, इंजी आरएस मौर्या, रामदत्त दिवाकर, लक्ष्मी नारायण सिंह, भरत लाल, बाबा चरन दास, कैलाश चन्द्र स्वरूप, अशोक कुमार गौतम, रामवीर सिंह, जगमोहन सिंह, मिक्की लाल, बीआर कर्दम, राजेन्द्र प्रसाद सहित काफी संख्या में जाटव समाज के लोग मौजूद रहे।


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.