July 24, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

भाजपा फंड में 1000 रुपये देकर राजनैतिक कार्य से मुक्ति मांगी गौतम गंभीर ने

Sachchi Baten

पहली मार्च को दिया डोनेशन, अगले दिन भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से अपील

-क्रिकेट की आगामी प्रतिबद्धताओं को पूरा करना चाहते हैं गौतम गंभीर

-राजनीतिक चर्चा में टिकट का कटना बताया जा रहा नाराजगी का प्रमुख कारण

-दिल्ली ईस्ट (पूर्व) से भाजपा सांसद हैं क्रिकेटर गौतम गंभीर

नई दिल्ली (सच्ची बातें)। दिल्ली ईस्ट से भारतीय जनता पार्टी के सांसद क्रिकेटर गौतम गंभीर राजनैतिक कार्यों से मुक्ति चाहते हैं। इसके लिए उन्होंने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से बाकायदा निवेदन किया है। गंभीर आगामी क्रिकेट की प्रतिबद्धताओं को पूरा करना चाहते हैं।

गौतम गंभीर ने दो मार्च को अपने एक्स (पूर्व में ट्विटर) हैंडल पर पोस्ट किया है-“मैंने माननीय पार्टी अध्यक्ष से अनुरोध किया है @JPNadda जी मुझे मेरे राजनीतिक कर्तव्यों से मुक्त करें ताकि मैं अपनी आगामी क्रिकेट प्रतिबद्धताओं पर ध्यान केंद्रित कर सकूं। मैं माननीय प्रधानमंत्री जी को हृदय से धन्यवाद देता हूँ @नरेंद्र मोदी जी और माननीय एचएम
@अमितशाह जी मुझे लोगों की सेवा करने का अवसर देने के लिए। जय हिन्द!” इस पोस्ट को उन्होंने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा गृह मंत्री अमित शाह को टैग किया है।

देखें लिंक…https://x.com/GautamGambhir/status/1763785102268772777?s=20

इसके एक दिन पहले ही गौतम गंभीर ने भारतीय जनता पार्टी को एक हजार रुपये दान किया है। इसकी रसीद को भी एक्स पर पोस्ट किया है। I have pledged my support by donating to the BJP, contributing to PM @NarendraModi  ji’s vision of building a Viksit Bharat. Let us all come forward & join the #DonationForNationBuilding drive using the NaMo App!

देखें लिंकhttps://x.com/GautamGambhir/status/1763635872405319878?s=20

इसके साथ रसीद की फोटो भी लगाई गई है।

गौतम गंभीर ने लोकसभा चुनाव के ऐन पहले यह कदम उठाया, इसलिए इस पर कमेंट भी राजनैतिक ही हो रहे हैं। अभी तक करीब 2700 लोगों ने कमेंट किया है। कुछ ने लिखा है कि भाजपा ने इस बार आपको टिकट न देने का निर्णय लिया है, इसलिए आप पार्टी छोड़ रहे हैं। इस निर्णय को अच्छा बताने वालों की भी कमी नहीं है।

एक हैंडल से कमेंट है- इतनी जल्दी सार्वजनिक जीवन से भाग रहे हैं? मेहंदी हसन की ये ग़ज़ल आपको ज़रूर सुननी चाहिए – “ये क्या चांद ही कदमों में थक के बैठ गया…” वैसे भी…संदेह है कि वे आपको मनाने के लिए कॉल करेंगे या आपको रुकने के लिए मनाने की कोशिश करेंगे। यह कुछ इस तरह है: उनकी तरफ से ओके, टाटा, बाय।


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.