July 24, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

Dr. Rashmi Dubey : वसंत पर कविता, आ गया अमराइयों का दौर है…

झूठ की परतें सभी खुलने लगीं, आ रहा सच्चाईयों का दौर है

Sachchi Baten

 

May be an image of 1 person and sunglasses

Dr. Rashmi Dubey : वसंत पर कविता, आ गया अमराइयों का दौर है…

शीतली पुरवाईयों का दौर है
आ गया अमराईयों का दौर है
झूठ की परतें सभी खुलने लगीं
आ रहा सच्चाईयों का दौर है
नफरतों की सिलवटें हटने भी दो
अब तो बस तुरपाईयों का दौर है
मिल चलेंगे एक होकर साथ में
इस समय अच्छाइयों का दौर है
भूलकर शिकवे पुराने चल पड़ें
अब नहीं परछाइयों का दौर है
सांस खुलकर आ रही है हर जगह
हो न हो अंगड़ाइयों का दौर है
मिल रहीं खुशियां गली औ गांव में
‘रश्मि’ ये शहनाईयों का दौर है
डॉ. रश्मि दुबे
गाजियाबाद

Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.