July 24, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

DGP Maharashtra : आइपीएस विपिन कुमार सिंह को याद आया वह प्राइमरी स्कूल, जिसमें सीखा था ककहरा

Sachchi Baten

Mirzapur  : अपने पैतृक गांव हिनौती माफी आए आइपीएस विपिन तो प्राइमरी स्कूल के लिए दिए बेंच-डेस्क

प्राइवेट विद्यालयों की तरह अब बेंच पर बैठकर पढ़ाई करेंगे हिनौती माफी के बच्चे

राजू सिंंह, अदलहाट (मिर्जापुर)। बहुुत कम लोग होंगे, जो ऊंचे ओहदे पर पहुंचने के बाद भी अपने पैर जमीन पर ही रखते हैं। जिस मिट्टी में जन्म लिया, जिस स्कूल मेंं प्राथमिक शिक्षा ग्रहण की, उसे याद रखते हैं। मिर्जापुर जनपद के हिनौती माफी गांंव के विपिन कुमार सिंह भी ऐसे ही कम लोगों में हैं, जो अपने गांव को याद करते हैं। पे बैक टू सोसायटी के सिद्धांत को याद रखते हैं।

विपिन कुमार सिंह इस समय महाराष्ट्र पुलिस प्रमुख हैं। मतलब महाराष्ट्र के डीजीपी। वह अक्सर गांव आते रहते हैं। अपने बचपन के मित्रों व रिश्तेदारों से मिलते-जुलते रहते  हैं। अभी हाल ही में जब वह गांव आए तो उस प्राइमरी स्कूल में पहुंच गए, जहांं से करीब 50 वर्ष  पूर्व कक्षा एक से पांच तक की पढ़ाई की है।

उन्होंने देखा कि बच्चे जमीन पर बैठकर पढ़ रहे हैं तो उन्होंने पर्याप्त संख्या बेंच व डेस्क की  व्यवस्था कर दी। अब इस स्कूल के भी बच्चे प्राइवेट स्कूलों की तरह बेंच पर ही बैठकर पढ़ेंगे।

महाराष्ट्र के डीजीपी विपिन कुमार सिंह ने बच्चों को बेहतर पढ़ाई के लिए अपनी ओर से 30 डेक्स उपलब्ध कराया है। जिसपर 150 बच्चे बैठकर पठन पाठन आसानी से कर सकते है।गांव के प्राथमिक विद्यालय पर पहुंचे डीजीपी को देखकर बच्चे और शिक्षकों ने खुशी जताई।ग्राम प्रधान प्रदीप सिंह पटेल की मौजूदगी में डीजीपी ने विद्यालय के बच्चों और समस्त स्टाफ के साथ लंच कर विद्यालय की प्रगति के बारे में जानकारी ली।

विपिन कुमार सिंह ने कहा कि जिस स्कूल से हमने प्राथमिक शिक्षा को ग्रहण किया, उस स्कूल के विकास के लिए आगे भी मदद करते रहेंगे। कहा कि ग्रामीण स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चे आज के दौर में किसी से कम नहीं हैं। बस आवश्यकता है अभिभावकों को उनको सही दिशा देने की। इस अवसर पर प्रधानाध्यापक राम नरेश यादव, चन्द्र भूषण सिंह, चन्दन सिंह, प्रभाकर सिंह, दीपेन्द्र सिंह, राकेश सिंह आदि लोग मौजूद रहे।


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.