July 16, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

मान्यवर कांशीराम के परिनिर्वाण दिवस पर कांंग्रेस का ‘दलित गौरव संवाद’ अभियान शुरू

Sachchi Baten

कांग्रेस ने दिया नारा, स्वाभिमान के वास्ते-संविधान के रास्ते

-संविधान दिवस 26 नवंबर तक चलेगा दलित गौरव संवाद

 

 

लखनऊ (सच्ची बातें)। मान्यवर कांशीराम जी के परिनिर्वाण दिवस पर कांग्रेस ने अपने ‘दलित गौरव संवाद’ कार्यक्रम की शुरुआत हुई। कार्यक्रम उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी मुख्यालय पर आयोजित किया गया था। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय राय ने दलित गौरव संवाद की औपचारिक शुरुआत की। यह कार्यक्रम 26 नवंबर तक चलेगा। इसके माध्यम से कांग्रेस अपने खोए वोट बैंक को फिर से साधने की कोशिश करेगी।

सबसे पहले मा. कांशीराम जी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई। इसके बाद प्रदेश अध्यक्ष अजय राय ने प्रदेश के सभी जनपदों में  स्वाभिमान के वास्ते- संविधान के रास्ते नारे के साथ ‘‘दलित गौरव संवाद’’ अभियान की शुरुआत की। यह अभियान मा. कांशीराम के परिनिर्वाण दिवस 9 अक्टूबर से प्रारंभ होकर 26 नवम्बर संविधान दिवस तक प्रदेश के सभी जनपदों में चलाया जायेगा।

कांग्रेस प्रवक्ता पुनीत पाठक ने बताया कि अभियान के प्रथम चरण में प्रदेश के प्रत्येक जनपद के मुख्यालय पर प्रेस वार्ता की जाएगी। साथ ही जनपद की प्रत्येक विधानसभाओं के अन्तर्गत 250 प्रभावशाली दलित गणमान्यों से सम्पर्क कर 500 ‘‘दलित अधिकार मांग पत्र’’ भरवाये जायेंगे। पूरे प्रदेश में एक लाख से अधिक दलित परिवारों के प्रभावशाली लोगों से संवाद किया जायेगा।

पूरे प्रदेश में दो लाख दलित अधिकार मांग पत्र भरवा कर पार्टी दलित समाज की प्रमुख मुद्दों को जानने का प्रयास करेगी। कांग्रेस पार्टी देश के संविधान और दलितों के स्वाभिमान की रक्षा के लिए हमेशा प्रतिबद्ध रही है। वर्ष 1948-49 में कांग्रेस सरकार ने अनूसूचित जाति और जनजाति के विकास के लिए हरिजन कल्याण बोर्ड की स्थापना करके इन जातियों के उत्थान हेतु पहला कदम बढ़ाया था।

 

 

शिक्षा से इन्हें जोड़ने के लिए निश्शुल्क शिक्षा देने की व्यवस्था सुनिश्चित की गई। वर्ष 1950 में भारत का संविधान अंगीकृत किया गया, जिसमें देश में निवास कर रहे हर दलित, वंचित और शोषित को बराबरी में आने का अवसर मिला। वर्ष 1953 में भूमिहीन दलित समाज को जमीन में आरक्षण देकर उनको भू स्वामी बनाया गया। यह दलित गौरव संवाद इसी प्रतिबद्धता की कड़ी में एक कदम है।

पाठक ने  कहा है कि कांग्रेस की सरकार ने जमींदारी प्रथा समाप्त कर देश में बराबरी का सिद्धांत लागू किया। भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी जी ने इंदिरा आवास योजना लाकर हर गरीब के घर के सपने को साकार किया। राहुल गांधी की पहल पर पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने नरेगा योजना लागू कर हर हाथ को काम दिया।

 

 

दलित गौरव संवाद अभियान के तहत जनपद की प्रत्येक विधानसभाओं की दलित बस्तियों में कांग्रेसजनों द्वारा 10 रात्रि चौपालों का आयोजन किया जायेगा। कुल मिलाकर 4000 रात्रि चौपालें इस डेढ़ महीने के दरम्यान आयोजित की जायेंगी। प्रत्येक लोकसभा में सामूहिक चर्चा (दलित एजेंडा ) के तहत कोर ग्रुप का गठन किया जायेगा। इसके बाद 18 मंडल मुख्यालयों पर एक दिवसीय दलित गौरव यात्रा निकाली जायेगी।

प्रवक्ता ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पूर्व मंत्री अजय राय ने पहले दिन मा. कांशीराम कॉलोनी ग्राम लौलाई चिनहट के मा. कांशीराम के सहयोगी रहे प्रो. आरबी सिंह गौतम के साथ संवाद कर एवं उनके द्वारा दलित अधिकार मांग पत्र भर कर इस अभियान की शुरुआत की।

मा. कांशीराम परिनिर्वाण दिवस के अवसर पर श्रद्धांजलि अर्पित करने वालों में राष्ट्रीय सचिव प्रदीप नरवाल, पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बृजलाल खाबरी, पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी, डॉ. मसूद अहमद, अनुसूचित जाति विभाग कांग्रेस के अध्यक्ष आलोक प्रसाद, प्रदेश महासचिव दिनेश सिंह, संगठन सचिव अनिल यादव, सेवादल कांग्रेस के मुख्य संगठक प्रमोद पाण्डेय, अल्पसंख्यक विभाग कांग्रेस के अध्यक्ष शाहनवाज आलम, राजेश सिंह काली, पुष्पेन्द्र श्रीवास्तव, पूर्व विधायक इन्दल रावत, प्रदेश प्रवक्ता डॉ. सीपी राय, डॉ. हिलाल अहमद नकवी, डॉ. मनीष हिंदवी, पुनीत पाठक, सचिन रावत, राहुल राजभर, अभिमन्यु त्यागी, रफत फातिमा, सुधा मिश्रा, शमीम खान, विजय बहादुर, लालती देवी, नईम सिद्दीकी, दानिश आज़म वारसी, बृजेन्द्र सिंह, नितान्त सिंह, ममता सक्सेना, सोम विकल, अन्नता तिवारी, अनिल देव त्यागी, अनामिका यादव, दिनेश सिंह यादव, तनवीर फातिमा, सुषमा मिश्रा, डॉ. रिचा शर्मा, अरशद खुर्शीद, निर्मला भारती, शांति पटेल, सीमा भारती, अनीस अंसारी, नावेद नकवी, सहित भारी संख्या में कांग्रेसजन मौजूद रहे।


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.