July 23, 2024 |

BREAKING NEWS

- Advertisement -

MIRZAPUR : IAS दिव्या मित्तल से नाराज थीं अनुप्रिया पटेल, जानिए क्यों ?

Sachchi Baten

DYNAMIC DM Divya Mittal

भाजपा नेता के बाद अब केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल के निजी सचिव अखिलेश कुमार का पत्र वायरल

-पहली सितंबर को भाजपा की बैठक में ही इनके स्थानांतरण की पटकथा लिख दी गई थी

राजेश पटेल, मिर्जापुर (सच्ची बातें)। मिर्जापुर की डीएम रहीं दिव्या मित्तल के तबादले के बाद कई आश्चर्यजनक बातें सामने आ रही हैं। यह कहा जाए कि इस प्रकरण में सोमवार का दिन वारयल पत्र के नाम रहा तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। जिले की सोशल मीडिया में विमर्श का विषय यही रहा।

पहले भारतीय जनता पार्टी के जिला उपाध्यक्ष विपुल सिंह की चिट्ठी वायरल हुई। पूरे दिन इस पर चर्चा होती रही। शाम को मिर्जापुर की सांसद व केंद्र में राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल के निजी सचिव अखिलेश कुमार का एक पत्र वायरल होने लगा। बीते 28 अगस्त को लिखे इस पत्र में डीएम दिव्या मित्तल को विकास के मामले में कटघरे में खड़ा करने का प्रयास किया गया है। साफ-साफ लिखा गया है कि अनुप्रिया पटेल नाराज हैं।

देखें पत्र…

सांसद व केद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल के अतिरिक्त निजी सचिव अखिलेश कुमार ने 28 अगस्त 2023 को पत्र संख्या 888 के माध्यम से डीएम दिव्या मित्तल से कहा है कि ‘विकास कार्यों के लिए विभिन्न पत्रों (पत्र संख्या) के माध्यम से  सांसद स्थानीय क्षेत्र विकास निधि के अंतर्गत विभिन्न कार्यों की अनुशंसा की गई थी।

इस संबंध में माननीया मंत्री जी के संज्ञान में आया है कि छह माह से अधिक समय बीत जाने के बाद भी कार्रवाई अब तक लंबित है जबकि सांसद स्थानीय क्षेत्र विकास योजना के दिशा-निर्देशों के आलोक में संसद सदस्य द्वारा दी गई सभी पात्र अनुशंसाओं के संबंध में स्वीकृति या अस्वीकृति जिलाधिकारी द्वारा अनुशंसाओं  की प्राप्ति की तारीख से 45 दिन के अंदर जारी की जानी अपेक्षित है।

कार्यों की स्वीकृति की समय सीमा निकल जाने के बावजूद इन विकास कार्यों की अद्यतन स्वीकारोक्ति प्रदान नहीं की गई है जो जनपद में विकास कार्यों में बाधक बन रही है। माननीया मंत्री जी ने इस मामले को अत्यंत गंभीरता से लिया है और उन्होंने गहरी अप्रसन्नता व्यक्त की है। पत्र में उल्लिखित कार्यों के संबंध में अविलंब स्वीकृति प्रदान करने का कष्ट करें ताकि जिले के विकास कार्य निर्बाध रूप से संपन्न हो सके।’

इसके अलावा सूत्रों से जो जानकारी मिली है, उसके अनुसार 1 सितम्बर को मुख्यमंत्री द्वारा सहकारी समितियों में सदस्यता महाअभियान का 10 बजे सीटी क्लब मीरजापुर में ऑनलाइन लाइव प्रसारण का शुभारंभ किया जाना था। इस कार्यक्रम के दोपहर 12 बजे से भाजपा जिला मुख्यालय पर मेरा माटी मेरा गौरव कार्यक्रम की समीक्षा थी। दो महीने सितंबर व अक्टूबर तक चलने वाले इस कार्यक्रम के अभियान हेतु जिला स्तरीय बैठक आयोजित की गई। इसमें जिला उपाध्यक्ष भाजपा एवं जिला सहाकारी बैंक के जिला उपाध्यक्ष विपुल सिंह ने जनपद में जिलाधिकारी द्वारा भाजपा और भाजपा से संबंधित जनप्रतिनिधियों की उपेक्षा करने और मनमाने ढंग से एक अच्छे लोक सेवक अधिकारी की तरह नहीं, बल्कि नेता की तरह जनपद में काम व व्यवहार कर सभी कार्यों व महत्वपूर्ण योजनाओं का मनमाने ढंग से उपयोग कर भाजपा को श्रेय न देने तथा भाजपा व भाजपा से संबंधित जनप्रतिनिधियों की उपेक्षा कर मनमाने ढंग से लोकार्पण आदि करने तथा विरोधी समाजवादी पार्टी आदि को प्रश्रय देने का विषय उठाया। लहुरियादह हलिया के अपनी क्षेत्रीय नल जल योजना का 30 अगस्त को डीएम द्वारा लोकार्पण करने का उदाहरण देते हुए इनके रहते भारत सरकार और उत्तर प्रदेश की जनहितकारी योजनाओं का काम करने के बावजूद भी श्रेय भाजपा को न मिलने की बात कही।

बताया गया कि इस बैठक में डीएम के एक स्वजातीय नेता के अतिरिक्त अन्य किसी ने डीएम का पक्ष नहीं लिया, जिससे इसे अधिसंख्य लोगों की राय मानी गई कि जिलाधिकारी मीरजापुर भाजपा को दबाने और विपक्ष को सहयोग करने के भाव से काम कर रही हैं। यही इनके स्थांतरण का मुख्य कारण बना तथा इसी जिला बैठक में इनके स्थान्तरण की अंतिम पटकथा लिखी गई और इसी दिन रात्रि तक उनका स्थानान्तरण हो गया।

देखना है कि अभी कोई और फत्र वायरल होता है या इसी पर विराम लग जाएगा।

 

 


Sachchi Baten

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.